Thursday, August 9, 2018

टीम में आंधी की तरह आए ये 5 इंडियन क्रिकेटर और तूफान की तरह बाहर हुए

5 भारतीय क्रिकेटर जो आंधी की तरह टीम में आए और तूफान की रफ्तार से चले गए

खेल के मैदान पर हर मैच में कोई न कोई हीरो बनता है, हर दिन एक सुपरस्टार खिलाड़ी दुनिया को मिलता है लेकिन सुपरस्टार्स की इस भीड़ में बहुत कम ऐसे हुए हैं जिन्होंने लम्बे समय तक अपनी चमक बरकरार रखी है. आज हम 5 ऐसे भारतीय खिलाड़ियों की बात करने जा रहे हैं जिन्होंने करियर के शुरुआती समय में ही बहुत लंबी फैन फॉलोइंग बना ली थी लेकिन दुर्भाग्य से इनका करियर बहुत जल्दी खत्म हो गया.

विनोद कांबली-

विनोद कांबली किस हद तक योग्य बल्लेबाज थे यह उनके रिकॉर्ड दर्शाते हैं, 17 मैचों के अपने टेस्ट करियर में काम्बली ने 54 के औसत से 1084 रन बनाए हैं. काम्बली ने टेस्ट में 4 शतक और 3 अर्धशतक भी लगाए, उनका सर्वाधिक स्कोर 227 रनों का था. काम्बली इतने टैलेंटेड होने के बाद भी क्यों टीम से बाहर रहे यह सवाल आज भी सभी के जहन में रहता है. सही मायनों में काम्बली आंधी की रफ्तार से टीम इंडिया में आये थे और तूफान की रफ्तार से गायब हो गए.

इरफान पठान-

अपनी स्विंग गेंदबाजी से रातों-रात स्टार बने इरफान पठान को भला कौन भूल सकता है. पाकिस्तान के खिलाफ ओवर की शुरुआती तीन गेंदों पर लगातार 3 विकेट चटकाने वाले इरफान पठान एक बेहतरीन ऑलराउंडर खिलाड़ी रहे हैं, 2007 में टी-ट्वेंटी विश्वकप विजेता भारतीय टीम का हिस्सा भी थे लेकिन विचित्र तरीके से इरफान पठान टीम इंडिया से बाहर होते गए और अब उनका करियर समाप्त हो चुका है.

यूसुफ पठान-

इरफान पठान के बड़े भाई यूसुफ को भी रातों-रात बहुत शोहरत मिली. लेकिन तेजी से बल्लेबाजी करने और बड़े शॉट्स लगाने में माहिर यह बल्लेबाज भी टीम से कब गायब हो गया पता ही नहीं चला.

सौरभ तिवारी-

आईपीएल से फेमस हुए सौरभ तिवारी भी धोनी की ही तरह लम्बे बाल रखते थे. सौरभ का टीम में चयन हुआ लोगों के बीच उनकी पहचान बनी और फिर कब सौरभ तिवारी नाम का यह बल्लेबाज टीम इंडिया से गायब हो गया किसी को पता नहीं चला.

मुनाफ पटेल-

तेज गेंदबाज मुनाफ पटेल को उनकी सधी हुई गेंदबाजी के लिए जाना जाता था. मुनाफ पटेल 2011 की विश्वकप विजयी भारतीय टीम का हिस्सा थे लेकिन समय के साथ इनका भी टीम से नाम गायब हो गया और अब मुनाफ कहाँ हैं इसकी खबर भी शायद ही किसी को है.

 

No comments:

Post a Comment