Thursday, August 9, 2018

7 साल में एक बार भी एशियाई टीम को हरा नहीं पाई ये टीम, जानिए क्या है वजह..

विराट कोहली

आज से लॉर्ड्स में इंग्लैंड और भारत के बीच दूसरा टेस्ट खेला जाएगा. मेजबान टीम एजबेस्टन में टीम इंडिया को 31 रनों से हराकर पांच मैचों की सीरीज में 1-0 से बढ़त बना चुकी है.

विराट ब्रिगेड आज से लॉडर्स में शुरू हो रहे दूसरे टेस्ट में जिम्मेदाराना प्रदर्शन के दम पर जीत की राह पर लौटने की कोशिश करेगी. आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में दुनिया की नंबर एक टीम सीरीज के पहले टेस्ट में बढ़त लेने के करीब पहुंची थी, लेकिन वह 31 रनों से चूक गई.

हालांकि ऐतिहासिक लॉर्ड्स में भारत का रिकॉर्ड अच्छा नहीं है. टीम इंडिया ने यहां इंग्लैंड के खिलाफ अब तक 17 टेस्ट मैच खेले हैं, जिनमें से वह दो ही टेस्ट जीत पाई है, जबकि 11 में उसे हार मिली, चार टेस्ट ड्रॉ रहे.

उधर, एशियाई टीमों (भारत-पाकिस्तान-श्रीलंका) की बात करें, तो इंग्लैंड के आंकड़े दुरुस्त नहीं हैं. पिछले सात साल में इंग्लिश टीम ने एशियाई टीम के खिलाफ एक भी टेस्ट नहीं जीता है. इस दौरान उसे तीन टेस्ट मैचों में हार मिली, जबकि दो टेस्ट ड्रॉ रहे. आखिरी बार उसने लॉर्ड्स में एशियाई देश भारत को 2011 में हराया था.

लॉर्ड्स: एशियाई टीमें vs इंग्लैंड (2011-2018)

(2011: इंग्लैंड ने भारत को 196 रनों से हराया था)

1. 2014 : श्रीलंका-इंग्लैंड टेस्ट ड्रॉ रहा

2. 2014: भारत ने इंग्लैंड को 95 रनों से हराया

3. 2016: श्रीलंका-इंग्लैंड टेस्ट ड्रॉ रहा

4. 2016: पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 75 रनों से हराया

5. 2018: पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 9 विकेट से हराया

No comments:

Post a Comment