Friday, September 14, 2018

13 सितंबर गणेश चतुर्थी, भूलकर भी ना करें यह 7 गलतियां अन्यथा गणेश जी होंगे रुष्ट…

जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि आज गणेश चतुर्थी का पावन पर्व बड़े ही धूम धाम से मनाया जाने वाला है इस पर्व की मान्‍यता पूरे भारतवर्ष में है पर आज हम 7 ऐसी गलतियों के संबंध में बताने वाले है जिसे भूलकर भी गणेश पूजन में न करें अन्‍यथा गणेश जी रूष्‍ट हो जायेगे।

आपकी जानकारी के लिये बता दें कि गणेश चतुर्थी का पावन त्योहार 13 सितंबर यानी आज पूरे भारतवर्ष में बेहद हर्षोल्लास के साथ मनाया जाने वाला है। आपको बता दें कि महाराष्‍ट्र में गणेश चतुर्थी की सर्वाधिक मान्‍यता है इसके साथ ही भारत के सभी राज्यों में भी गणेश चतुर्थी का पावन पर्व विशेष महत्व रखता है। गणेश चतुर्थी पर भगवान गणेश की पूजा करते समय निम्‍न बातों को ध्‍यान देना अतिआवश्‍यक है जो कुछ इस प्रकार से है……

पहला : गणेश जी की प्रतिमा यदि स्थापित की है तो गणेश जी का मुख दरवाजे की ओर बाहर को देखते हुए नहीं होना चाहिए। वह किसी ना किसी घर की दीवार की ओर होना चाहिए, जिससे आपके घर में खुशहाली और संपन्नता का वास हो।
दूसरा : गणेश जी को भोग लगाते समय यह ध्यान रखें कि गणेश जी को तुलसी दल भोग में कदापि ना दें। और तीनों पहर गणेश जी को मोदक के लड्डू जरूर भोग में चढ़ाएं। यदि आपने घर में गणेश जी की प्रतिमा को स्थापित किया है।
तीसरा : गणेश जी की प्रतिमा के पीठ के दर्शन नहीं करने चाहिए। माना जाता है कि गणेशजी की पीठ में दरिद्रता का वास होता है यदि आप ऐसा करते हैं तो आपको दुख और दरिद्रता का सामना करना पड़ सकता है।

चौथा : यदि घर में गणेश जी की प्रतिमा स्थापित करते हैं तो बहुत बड़ी प्रतिमा स्थापित नहीं करनी चाहिए। यदि नदी की मिट्टी की प्रतिमा बनाए तो इससे श्रेष्ठ फल की प्राप्ति होती है।
पांचवा : गणेश चतुर्थी का व्रत यदि रखा है तो बिना चंद्र को अर्घ दिए बिना,व्रत का समापन नहीं होता है,इसके साथ एक बात और ध्यान देने योग्य है कि चंद्रमा को सीधी नजर से नहीं देखना चाहिए,नजर झुका कर अर्घ देना चाहिए।
छठा : गणेश चतुर्थी के दिन ध्यान रखें कि पीले या सफेद वस्त्र ही धारण करने चाहिए।
सातवां : गणेश चतुर्थी के दिन यह बात विशेष ध्यान दें कि राहु काल में आपको गणेश जी की पूजा नहीं करनी है।
उपरोक्‍त जानकारी के संबंध में आप लोगों की क्‍या प्रतिक्रियायें है?कमेंट बॉक्‍स में अपनी महत्‍वपूर्ण रॉय अवश्‍य लिखें।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment