Saturday, September 15, 2018

कैंसर से जूझ रहे हैं मनोहर पर्रिकर, किसी और को दी जा सकती है गोवा की अस्थाई जिम्मेदारी

पणजी : गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर कैंसर जैसी घातक बीमारी से जुझ रहे हैं। ऐसे में सीएम पर्रिकर ने अस्थाई तौर पर मुख्यमंत्री पद किसी और को देने की इच्छा जतायी है। दरअसल, मनोहर पर्रिकर एडवांस पैंक्रियाटिक कैंसर की बीमारी से जुझ रहे हैं। पिछले 7 महीने से इस बीमारी से ग्रसित पर्रिकर अपना इलाज का अमेरिका से करा रहे हैं और पिछले 6 सितंबर को देश लोटे हैं। अब तक 3 बार सिर्फ इलाज के लिए पर्रिकर अमेरिका जा चुके हैं।

फिलहाल उनकी तबियत फिर से खराब हो गयी है और वो दिल्ली स्थित एम्स में इलाज के लिए भर्ती हो रहे हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि सीएम पर्रिकर को दिल्ली के एम्स से आगे के इलाज के लिए भर्ती कराया जाएगा। वे विशेष विमान से दोपहर बाद दिल्ली पहुंचेंगे। सीएम की तबियत की जांच के बाद उन्हें गुरुवार की शाम गोवा से 15 किलोमीटर दूर कैंडोलिम के एक स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। अधिकारी ने बताया कि फिलहाल सीएम पर्रिकर की तबियत को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी  अध्यक्ष अमित शाह लगातार पर्रिकर के जुड़ रहे हैं।

अनुमान है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को मनोहर परिकर से मुख्यमंत्री पद को संभालने को लेकर बात की है। ताकि गोवा के लिए एक पर्रिकर एक अस्थायी विकल्प की खोज की जाए। खबर हैं कि पार्टी विजय पुराणिक को पर्यवेक्षक बनाकर भेज रही है। साथ ही अनुमान है कि संगठन सचिव बीएल संतोष भी गोवा जा सकते हैं।

खबरों की माने तो गोवा में बीजेपी सरकार की सहयोगी महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के रामकृष्ण सुदीन धवलीकर को जिम्मेदारी देने की बात चल रही है। 18 महीने के लिए अस्थायी तौर पर सरकार चलाने की जिम्मेदारी धवलीकर दी जा सकती है। धवलीकर पर्रिकर मंत्रिमंडल में सबसे वरिष्ठ मंत्री हैं लेकिन धवलीकर इस बारे में बात को टाल दी है। इसके साथ ही कैबिनेट के दो बीमार चल रहे मंत्रियों पांडुरंग मडकाइकर और फ्रांसिस डिसूजा को भी बदले के बार में सोचा जा रहा है। मडकाइकर और डिसूजा फिलहाल, अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती हैं।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment