Sunday, October 14, 2018

पहली बार वोट देने वाले मतदाता वोटिंग लिस्ट से सम्बंधित ये जानकारी यहाँ पढ़े ले वरना नही डाल पाएंगे वोट

भारत में 18 साल के हो जाने पर आप को वोट डालने का अधिकार दिया जाता है। यानी कि 18 साल की उम्र के बाद आप देश के प्रधानमंत्री का चुनाव कर सकते हैं। गौरतलब है कि जो युवा 18 साल के होने के बाद पहली बार वोट डालने जाते हैं वह काफी उत्साहित होते हैं। लेकिन अक्सर चुनाव के दौरान ऐसा होता है कि आप वोटर्स की लिस्ट में अपना नाम नहीं ढूंढ पाते हैं। जो कि सबसे ज्यादा जरूरी होता है।

नए मतदाता होते है वोट देने के लिए उत्साहित
आपको बता दें कि अगर आप पहली बार वोट डालने जा रहे हैं तो उससे पहले अपना नाम राज्य की मतदाता लिस्ट में ढूंढ सकते हैं। बताया जा रहा है कि भारतीय निर्वाचन आयोग द्वारा यह सुविधा प्रदान की जा रही है। अगर आपको मतदाता सूची में अपना नाम ढूंढना है तो इसके लिए आपको अपने राज्य और विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र का नाम के नाम अपने फर्स्ट नेम लास्ट नेम के साथ लिंग की जानकारी देनी पड़ेगी।

इस तरह ढूंढें मतदान केंद्र
इसके अलावा आप जिले के आधार पर भी मतदाता की सूची में अपना नाम ढूंढ सकते हैं। जब आपको इस सूची में अपना नाम मिल जाता है तो उसके बाद आपको अपना मतदान केंद्र ढूंढना होता है जहां पर जाकर आप वोट दे सकते हैं।

फिर आप घर बैठे ही पता कर सकते हैं कि आपका वोटिंग केंद्र क्या है। इसके लिए आपको राज्य के इलेक्शन कमीशन की वेबसाइट पर जाकर अपने जिले शहर और नाम के साथ निर्वाचन क्षेत्र को सिलेक्ट करना होगा।

पोलिंग बूथ को ढूंढ सकते हैं ऐसे
जिसके जरिए आप अपने वोटिंग केंद्र को ढूंढ सकते हैं और इसके बाद पोलिंग बूथ पर जा सकते हैं। आपको बता दें कि जब आप मतदान करने के लिए पोलिंग बूथ पर जाते हैं तो उसके बाद आपके पास अपनी वोटिंग पर्ची होनी जरूरी है और इसके साथ ही आजकल पहचान पत्र भी होना जरूरी है जो कि आपका वोटर आईडी कार्ड होता है। इसके अलावा आजकल आधार कार्ड भी अपने साथ रखना जरूरी है इस जरिए आप वोटिंग कर सकते हैं।

वोटिंग के लिए हो जाएँ तैयार
गौरतलब है कि अगले साल देश में लोकसभा चुनाव होने वाले हैं और उससे पहले देश के कई राज्यों में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं तो वह जो भी नए वोटर हैं। वह तैयारी पूरी कर ले पहली बार वोट डालने के लिए लोग काफी उत्साहित रहते हैं।

आपको बता दें कि वोटिंग करने का अधिकार हमें इस देश के संविधान ने दिया है। जिसके जरिए हम इस देश के नेता से लेकर प्रधानमंत्री तक का चुनाव कर सकते हैं 18 साल के हो जाने के बाद किसी भी बच्चे को व्यस्क करार दे दिया जाता है। जिसका मतलब होता है कि वह अब देश के प्रतिनिधि को चुनने के काबिल बन चुका है।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment