Friday, October 12, 2018

अगर बनना चाहते हैं खुद का भाग्यविधाता, तो इस दिन करें यह सरल उपाय…

 

 

अगर आपको बार बार निराशा का सामना करना पड़ रहा है और हर बार आपका भाग्य आपका साथ नहीं दे रहा है तो इस ख़ास दिन ये सरल से उपाय करके आप अपनी भाग्य सम्बंधी समस्यों से छुटकारा पा सकते हैं।

भारत में है एक ऐसी जगह जहाँ होती है रावण की पूजा…

गुरुवार के दिन भगवान विष्णु की विशेष पूजा की जाती है। इस दिन का कारक ग्रह गुरु को माना जाता है। गुरु ग्रह के कमजोर होने से व्यक्ति को भाग्य संबंधी समस्याअों का सामना करना पड़ता है। इनसे छुटकारा पाने अौर गुरु ग्रह व भगवान विष्णु की कृपा हेतु बृहस्पतिवार के दिन कुछ सरल उपाय करके लाभ प्राप्त किया जा सकता है।

जाने क्या हैं गुरुवार के उपायः  बृहस्पतिवार को शाम के समय केले के वृक्ष के नीचे दीपक प्रज्वलित करें। इसी दिन गरीब बच्चों को केले का दान भी करें। गुरुवार के दिन सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नानदि कार्यों से निवृत होकर भगवान विष्णु के आगे शुद्ध घी का दीपक प्रज्वलित करें। इससे भगवान विष्णु की कृपा प्राप्त होगी।

नवरात्र में न करें ये काम, नहीं तो माँ जगदंबा आपसे हो सकती है रूष्ट…

गुरु मंत्र का जाप करें। मंत्र- ऊँ बृं बृहस्पते नम:। इस मंत्र की कम से कम 108 बार  जाप करें। बृहस्पतिवार को पीले वस्त्र पहनने चाहिए। इसके साथ ही पीले व्यंजनों का सेवन करना चाहिए। अपने भोजन में बेसन के लड्डू, आम, केले आदि भी शामिल करें। इस दिन नमक रहित खाना खाना चाहिए। पूजा उपरांत केसर का तिलक लगाएं। केसर न होने पर हल्दी का तिलक लगाकर अपने दिनचर्या की शुरुआत करें। प्रत्येक गुरुवार को भगवान शिव को बेसन के लड्डूअों का भोग लगाएं। इससे गुरु ग्रह के दोषों से मुक्ति मिलती है। गुरु ग्रह को मजबूत रखने के लिए गुरुवार को व्रत रखें। देव गुरु बृहस्पतिदेव की प्रतिमा या चित्रपट को पीले रंग के वस्त्र में विराजित कर पूजा-अर्चना करें। पूजा में केसरिया चंदन, पीले चावल, पीले फूलों का प्रयोग करें। प्रसाद के लिए भी पीले पकवान या फल अर्पित करें।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment