Thursday, October 11, 2018

History in Today: आज ही के दिन दुनिया को अलविदा कह गया एक अजेय योद्धा…

 

History in Today:

23 मार्च 1910 को क़स्बा अकबरपुर फैजाबाद में जन्में भारत के स्वतन्त्रता संग्राम सेनानी, प्रखर चिन्तक तथा समाजवादी राजनेता राम मनोहर लोहिया को भारत का एक अजेय योद्धा और महान् विचारक के रूप में देखता है।

History in Today: आज ही के दिन सिनेमा को मिला था बॉलीवुड का महानायक…

देश की राजनीति में स्वतंत्रता आंदोलन के दौरान और स्वतंत्रता के बाद ऐसे कई नेता हुए जिन्होंने अपने दम पर शासन का रुख़ बदल दिया जिनमें एक थे राममनोहर लोहिया। अपनी प्रखर देशभक्ति और बेलौस तेजस्‍वी समाजवादी विचारों के कारण अपने समर्थकों के साथ ही डॉ. लोहिया ने अपने विरोधियों के मध्‍य भी अपार सम्‍मान हासिल किया।

डॉ. लोहिया के बारे में…. डॉ. लोहिया सहज परन्तु निडर अवधूत राजनीतिज्ञ थे। उनमें सन्त की सन्तता, फक्कड़पन, मस्ती, निर्लिप्तता और अपूर्व त्याग की भावना थी। डॉ. लोहिया मानव की स्थापना के पक्षधर समाजवादी थे। वे समाजवादी भी इस अर्थ में थे कि, समाज ही उनका कार्यक्षेत्र था और वे अपने कार्यक्षेत्र को जनमंगल की अनुभूतियों से महकाना चाहते थे। वे चाहते थे कि, व्यक्ति-व्यक्ति के बीच कोई भेद, कोई दुराव और कोई दीवार न रहे। सब जन समान हों। सब जन सबका मंगल चाहते हों। सबमें वे हों और उनमें सब हों। वे दार्शनिक व्यवहार के पक्ष में नहीं थे। उनकी दृष्टि में जन को यथार्थ और सत्य से परिचित कराया जाना चाहिए। प्रत्येक जन जाने की कौन उनका मित्र है? कौन शत्रु है? जनता को वे जनतंत्र का निर्णायक मानते थे।

30 सितम्बर 1967 को लोहिया को नई दिल्ली के विलिंग्डन अस्पताल, अब जिसे लोहिया अस्पताल कहा जाता है, में पौरुष ग्रंथि के आपरेशन के लिए भर्ती किया गया जहाँ 12 अक्टूबर 1967 को उनका देहांत 57 वर्ष की आयु में हो गया।

History in Today: आज ही के दिन दुनिया को अलविदा कह गए, ग़ज़लों के बादशाह…

कश्मीर समस्या हो, ग़रीबी, असमानता अथवा आर्थिक मंदी, इन तमाम मुद्दों पर राम मनोहर लोहिया का चिंतन और सोच स्पष्ट थी। कई लोग राम मनोहर लोहिया को राजनीतिज्ञ, धर्मगुरु, दार्शनिक और राजनीतिक कार्यकर्ता मानते है।

देश और दुनिया से 12 अक्टूबर की महत्त्वपूर्ण घटनाएँः- 1860 – आज ही के दिन ब्रिटेन और फ्रांस की सेना ने चीन की राजधानी बीजिंग पर कब्जा जमाया। 1986 – आज ही के दिन 87 से आगामी 5 वर्षों के लिए जेवियर परेज द कुइयार सं.रा. संघ के महासचिव निर्वाचित। 1992 – आज ही के दिन मिस्त्र की राजधानी काहिरा में भूकंप से करीब 510 लोगों की मौत हुई। 1997 – आज ही के दिन अल्जीरिया के सिदी दाउद में 43 लोगों का नरसंहार हुआ। 1999 – आज ही के दिन पाकिस्तान में सेना द्वारा तख्ता पलट के बाद जनरल परवेज मुशर्रफ़ सत्ता पर क़ाबिज़, संयुक्त राष्ट्र की गणना के अनुसार छ: अरबवाँ शिशु का सरायेवों में जन्म, अंतरिक्ष अन्वेषण यान गैलिलियो बृहस्पति ग्रह के ज्वालामुखीय चन्द्रमा आई.ओ.के. नजदीक पहुँचा। 2000 – आज ही के दिन अंतरिक्ष यान ‘डिस्कवरी’ फ़्लोरिडा से अंतरिक्ष में प्रक्षेपित हुआ। 2001 – आज ही के दिन संयुक्त राष्ट्र और उसके महासचिव कोफी अन्नान को संयुक्त रूप से नोबेल शांति पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की गई। 2002 – आज ही के दिन यूरोपीय पर्यवेक्षकों ने पाकिस्तान में सम्पन्न चुनावों में धांधली का आरोप लगाया। आज ही के दिन बाली के एक नाइटक्लब में आतंकवादी हमले में 202 लोगों की मौत हुई। 2004 – आज ही के दिन पाकिस्तान ने गौरी-1 मिसाइल का परीक्षण किया। 2007 – आज ही के दिन अमेरिका के पूर्व उपराष्ट्रपति अलगोर व संयुक्त राष्ट्र के अंतर्राष्ट्रीय पैनल (आईपीसीसी) को संयुक्त रूप से वर्ष 2007 का नोबेल शांति पुरस्कार प्रदान किया गया। 2008 – आज ही के दिन रायबरेली के लालगंज में रेल कोच फैक्ट्री के लिए तीन माह पहले दी गई लगभग पाँच सौ एकड़ ज़मीन उत्तर प्रदेश सरकार ने वापस ली।

History in Today: आज ही के दिन बंदूकधारियों ने एक 16 साल की बच्ची पर गोलियों की बौछार….

आज ही के दिन केरल की सिस्टर अल्फोंसा भारत की पहली महिला संत बनी। 2013 – आज ही के दिन वियतनाम की एक पटाखा फैक्ट्री में बम धमाके से 15 लोगों की मौत हुई। 2014 – आज ही के दिन इवो मोरालेस दोबारा बोलीविया के राष्ट्रपति चुने गए। आज के दिन हुए जन्म 1888 – आज ही के दिन पहले क्रांतिकारी और बाद में गाँधी जी की अनुयायी पेरीन बेन का जन्म हुआ था। 1908 – आज ही के दिन प्रसिद्ध वैज्ञानिक आत्माराम का जन्म हुआ था। 1911 – आज ही के दिन डॉन ब्रैडमैन के ज़माने के महान् भारतीय क्रिकेट खिलाड़ी विजय मर्चेन्ट का जन्म हुआ था। 1919 – आज ही के दिन ‘भारतीय जनता पार्टी’ की प्रसिद्ध नेता विजयाराजे सिंधिया का जन्म हुआ था। 1935 – आज ही के दिन प्रसिद्ध राजनीतिज्ञ, पंजाब के राज्यपाल, पूर्व लोकसभा अध्यक्ष शिवराज पाटील का जन्म हुआ था। 1938- आज ही के दिन प्रसिद्ध उर्दू शायर और गीतकार निदा फ़ाज़ली का जन्म हुआ था। 1963 – आज ही के दिन समकालीन गीतकार एवं ग़ज़लकार शिवकुमार बिलगरामी का जन्म हुआ था। जो अपने मौलिक लेखन और चिंतन के लिए जाने जाते थे।

 History in Today: आज ही के दिन बॉलिवुड़ को मिला था सबसे हैंडसम अभिनेता…

1980 – आज ही के दिन समाजशास्त्री किरण मिश्रा का जन्म हुआ था। आज के दिन हुए निधन 1967 – आज ही के दिन भारतीय स्वतंत्रता सेनानी डा. राममनोहर लोहिया का निधन हुआ। दिवस विश्व डाक दिवस (सप्ताह) राष्ट्रीय विधिक सहायता दिवस (सप्ताह) कोलम्बस दिवस

History in Today: आज ही के दिन जन्में बीसवीं शताब्दी के हिन्दी के प्रमुख साहित्यकार..

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment