Thursday, October 11, 2018

J&K: सेना ने हिज्बुल मुजाहिदीन के कमांडर मन्नान वानी ढेर, AMU छोड़ बना था आतंकी

श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। सुरक्षाबलों ने आतंकी मन्नान वानी को मार गिराया है। उसके साथ एक और आतंकी भी मारा गया है। फिलहाल सुरक्षाबलों ने इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रखा है। आतंकी की मौत पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट कर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि हमे दुख है की हमारे पढ़े लिखे युवा मारे जा रहे हैं। सभी राजनीतिक पार्टियों को एक साथ होकर पाकिस्तान से वार्ता कर इस मुद्दे को खत्म करना चाहिए। उधर अलगाववादी नेता मीरवाइज उमर फारूक ने जम्मू-कश्मीर में आतंकी मन्नान वानी कि मौत का दुख जताते हुए कल बंद की घोषणा की है।

जानकारी के अनुसार, आज सुबह से कुपवाड़ा सेक्टर के हंदवाड़ा में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ चल रही थी। खबर है कि सुरक्षाबलों ने वहां मौजूद दोनों आतंकियों को ढेर कर दिया है। साथ ही दोनों के शव को बरामद कर लिया गया है। फिलहाल इलाके में सर्च ऑपरेशन जारी है।

आपको बता दें कि मुठभेड़ के दौरान शतगुंड बाला में इलाके में इंटरनेट सेवा को बंद कर दिया गया था। साथ ही स्कूल-कॉलेज भी बंद करने की घोषणा की गई थी। मन्नान वानी अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) का पूर्व स्टूडेंट था। वानी इसी साल एएमयू से लापता हुआ था। बाद में खबर आई कि वह आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हो गया था। एएमयू ने मन्नान वानी को निष्कासित कर दिया था।

गौरतलब है कि हाल ही में सेना की 15 कोर के जीओसी लेफ्टिनेंट जनरल एके भट ने दावा किया था कि सरहद पार करीब 250 से अधिक आतंकी भारत में दाखिल होने के लिए तैयार बैठे हैं। वर्तमान में रियासत में 300 आतंकी सक्रिय हैं। कोशिश है कि इस संख्या को 100 तक पहुंचा दिया जाए। दोहराया कि जिसने हथियार उठाया है उस उग्रवादी को हम खत्म कर देंगे। सेना कमांडर ने कुपवाड़ा जिले के केरन में पत्रकारों से कहा था कि 250 से अधिक आतंकी सीमा पर अलग-अलग लॉन्च पैड्स पर घुसपैठ के लिए तैयार बैठे हैं। पूरी फौज हर जगह उन्हें रोकने के लिए सतर्क है। आने वाले महीनों में बर्फ के कारण रास्ते बंद हो जाएंगे। इसलिए आतंकियों की पूरी कोशिश होगी कि समय से पहले घुसपैठ कर लिया जाए। ऐसे में घुसपैठ की कोशिशों के बढ़ने की संभावना है।

सेना की वॉन्टेड लिस्ट में था वानी
मन्नान वानी ने इस साल की शुरुआत में अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय का पीएचडी कोर्स छोड़कर हिज्बुल मुजाहिदीन का हाथ थाम लिया था। हिज्बुल ने उसे कुपवाड़ा का कमांडर बनाया गया था। मन्नान के हिज्बुल जॉइन करने के बाद से ही सुरक्षा एजेंसियों को उसकी तलाश थी। वहीं पिछले दिनों सेना द्वारा जारी मोस्ट वॉन्टेड टेररिस्ट की सूची में मन्नान का भी नाम शामिल किया था।

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment