Wednesday, November 7, 2018

सुर के शौकीनों के लिए JioSaavn: जियो यूजर्स को 90 दिनों के फ्री सब्सक्रिप्शन मिलने शुरू

रिलायंस जियो जल्दी ही ऑनलाइन म्यूजिक की दुनिया में भी छा जाने को तैयार है। आपको याद होगा, साल के शुरू में रिलायंस जियो और ऑनलाइन म्यूजिक सर्विस सावन के बीच करार हुआ था। 1 बिलियन डॉलर के इस करार के बाद अब रिपोर्ट है कि दोनों कंपनियों ने पार्टनरशिप के तहत पहलकदमी शुरू कर दी है। टेलीकॉम टॉक के मुताबिक, कुछ लोगों को अपने जियो नंबर से ‘सावन प्रो’ ऐप का रजिस्टर करने पर 90 दिनों का फ्री सब्सक्रिप्शन मिलने लगा है। आशा जताई जा रही है कि Jio Music को जल्दी ही JioSaavn नाम से पहचाना जाने लगेगा।

JioSaavn का 90 दिनों का सब्सक्रिप्शन

रिलायंस जियो सब्सक्राइबर्स जैसे ही सावन को रजिस्टर कर रहे हैं, उन्हें अचानक ‘Saavn Pro‘ का 90 दिनों का फ्री एक्सेस मिलने लगा है। ये वो लोग हैं जो ऐप को पहली बार अपने जियो नंबर से रजिस्टर कर रहे हैं। जियो की ये पहलकदमी से संकेत मिल रहे हैं कि कंपनी संभवतः सावन के सारे कैटेलॉग जियो म्यूजिक में ला रही है। इससे बाद में जियो म्यूजिक में सभी तरह के संगीत मिलने लगेंगे। आपको बता दें, जियो यूजर्स को जियो म्यूजिक की सब्सक्रिप्शन फ्री मिलता है।

ऐसा लग रहा है कि जियो अभी इसका परीक्षण कर रहा है। पहले दौर के बाद संभव है कि रिलायंस जियो म्यूजिक का नाम जियो सावन रख दें, या ये भी हो सकता है कि जियो एक कदम आगे बढ़ाते हुए नाम से सावन हटा दे, ताकि उसका जियो म्यूजिक सिंगल रहे।

जियो और सावन का 1 बिलियन डॉलर का करार

मार्च में जब जियो और सावन ने अपने विलय का ऐलान किया था, सावन ने एक ब्लॉग पोस्ट लिखकर बताया था कि उनकी ये पार्टनरशिप 1 बिलियन डॉलर की है। ब्लॉग कहता है, “दोनों कंपनियों के इस संयुक्त अस्तित्व की कीमत 1 बिलियन डॉलर से अधिक होगा, जिसमें जियोम्यूजिक की कीमत 670 मिलियन डॉलर आंकी गई है। ये संयुक्त इकाई की तरह काम करेगी। ये इकाई आने वाले समय में दुनिया भर में अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए एक मीडिया प्लेटफार्म तैयार करेगी। ये स्वतंत्र कलाकारों के लिए मार्केटप्लेस का काम करेगा। यहां देश की सरहदों के पार के ओरिजिनल म्यूजिक मिलेंगे और ये सबसे बड़ी मोबाइल एडवर्टाइजिंग मीडियम में से एक होगा।”

ब्लॉग पोस्ट में ये भी कहा गया था कि रिलायंस इस सर्विस के विकास और विस्तार के लिए 100 मिलियन डॉलर का निवेश करेगी, और इस तरह इसे दुनिया की सबसे बड़ी और ऊंची म्यूजिक स्ट्रीमिंग सर्विस में से एक के रूप में खड़ा किया जाएगा। विलय के बाद भी, सावन के तीन सह-संस्थापक ऋषि मल्होत्रा, परमदीप सिंह और विनोद भट की जिम्मेदारियां पहले की तरह रहेंगी और वे अपने अपने क्षेत्र में संबंधित सेवाओं को आगे बढ़ाने के लिए काम करते रहेंगे।

ऋषि मल्होत्रा के मुताबिक कंपनी ने लगभग दस साल पहले सोचा था कि एक ऐसा म्यूजिक प्लेटफॉर्म बनाएंगे जो दक्षिण एशियाई देशों की संस्कृति से प्रभावित होगा। रिलायंस के साथ इस साझेदारी के बाद हम दुनिया भर में सबसे तेजी से बढ़ने वाले मीडिया प्लेटफॉर्म बनने की ओर कदम बढ़ा चुके हैं.

भारत में किफायती दर वाले इंटरनेट कनेक्टिविटी के साथ 30 करोड़ एक्टिव स्मार्टफ़ोन यूजर्स हैं। ऐसे में हमें उम्मीद है कि जियो और सावन का ये करार बड़े पैमाने पर लोगों को फायदा पहुंचाएगा। रिलायंस सावन के मौजूदा शेयरधारकों से आंशिक हिस्सेदारी खरीद रही है, जिसमें टायगर ग्लोबल मैनेजमेंट, लिबर्टी मीडिया और बर्टल्समैन शामिल हैं।

 

 

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment