Monday, December 3, 2018

मूडीज इन्वसेस्टर्स सर्विस ने लगाया अनुमान, कहा- इस वित्त वर्ष 7.2 फीसदी रह सकती है भारत की जीडीपी

नई मूडीज इन्वसेस्टर्स सर्विस ने सोमवार को इस वित्तीय वर्ष में भारत की जीडीपी का अनुमान लगाया है। जिसके मुताबिक अनुमान है कि इस वित्तीय वर्ष में भारत की जीडीपी 7.2 फीसदी रहेगी। अंतरराष्ट्रीय क्रेडिट रेटिंग एजेंसी मूडीज ने कहा है कि 2019-20 में भारत की जीडीपी 7.4 फीसदी रहने का अनुमान है।

मूडीज के मुताबिक मार्च 2019 को समाप्त वर्ष में भारत में जीडीपी 7.2% और अगले वर्ष 7.4% रहने की पूरी उम्मीद है। चालू वित्त वर्ष और अगले वित्त वर्ष के लिए भारत के सकल घरेलू उत्पाद (GDP) की वृद्धि होने की उम्मीद में कमी आयी है। इससे पहले मूडीज ने वर्ष 2018 और 2019 में भारत की आर्थिक विकास दर 7.5 फीसदी रहने की संभावाना जतायी थी।

सालाना बैंकिंग सिस्टम आउटलुक में एजेंसी ने कहा था कि ऑपरेटिंग वातावरण में स्थिरता आएगी और इसी वजह से मजबूत आर्थिक विकास से भी मदद मिलेने की संभावना भी बनती है। मूडीज ने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में क्रेडिट लागत में भारी गिरावट दर्ज की गयी है लेकिन ऐसी लागतें ऊंची रहने की संभावनाए भी बढ़ गयी है।

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक कम से कम पूंजी जरूरतों को पूरा करने के लिए सरकारी पूंजी पर आश्रित रहेंगे। मूडीज ने सरकारी बैंकों को सरकार का समर्थन मजबूत रहने की संभावनी जतायी और कहा कि “दिवाला शोधन की चुनौतियों के बाद भी सार्वजनिक बैंकों का वित्तपोषण एवं तरलता मजबूत बनी रहेगी। बैंकों का मुनाफा सुधरेगा लेकिन ऋण पर अधिक ब्याज दर के कारण नरम रहेगा।” आपको जानकारी दे दें कि मूडीज भारत के 15 व्यावसायिक बैंकों की रेटिंग करता है।

अप्रैल-जून की अवधि में 8.2 फीसदी की दो साल की उच्च सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर की तुलना में भारतीय सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर पर भी गौर करना पड़ेगा। भारतीय सकल घरेलू उत्पाद की वृद्धि दर में वित्तीय वर्ष 2018-2019 की दूसरी तिमाही (जुलाई-सितंबर) में 7.1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गयी। दूसरी तिमाही में 7.1 प्रतिशत की जीडीपी वृद्धि दर, पिछले 3 तिमाहियों में सबसे कम दर्ज की गयी। आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने इस वृद्धि दर को ‘निराशाजनक’ बताया था। केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय द्वारा जारी आंकड़े बताते हैं कि साल-दर-साल आधार जीडीपी दर में तेजी दर्ज की गयी। वित्त वर्ष 2017-18 की दूसरी तिमाही में जीडीपी की वृद्धि दर 6.3 फीसदी दर्ज की गयी थी।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment