Monday, December 3, 2018

राजस्थान में जीत का फैक्टर बने किसानों और आदिवासियों को रिझाने में जुटे दिग्गज, शाह के निशाने पर राहुल

उदयपुर: राजजगह विधानसभा चुनाव में इस बार किसानों और आदिवासियों की चर्चा जोरों पर है. सभी पार्टियों के स्टार प्रचारक और नेता किसानों के मुद्दे पर जमकर चिंता व्यक्त कर रहे हैं. वहीं राजजगह के आदिवासी समुदाय का विकास का विषय भी इस विधानसभा चुनाव में हॉट केक बन गया है. इसी कड़ी में प्रदेश में चुनाव प्रचार कर बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने एक बार फिर आदिवासी समुदाय की चिंता कर कांग्रेस पर निशान साधा.

प्रतापगढ़ में जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा कि राहुल बाबा और कांग्रेस के पास ‘मोदी हटाओ’ के अलावा कोई और मुद्दा नहीं बचा है. इनको ‘Modi phobia’ हो गया है. कांग्रेस ने देश के आदिवासियों के लिए कुछ नहीं किया. अटल जी की सरकार ने पहली बार आदिवासी विकास मंत्रालय बनाने का काम किया. मोदी जी और वसुंधरा राजे सरकार ने हमारे आदिवासी समाज को सशक्त करने का काम किया है. किसानों के लिए भी बीजेपी ने कई नीतियां बनाई.

वहीं कांग्रेस का बात करें तो राहुल गांधी ने प्रदेश के किसानों को रिझाने के लिए 100 प्रतिशत कर्ज माफी का वादा भी कर डाला. राहुल गांधी ने किसानों को संबोधित करते हुए कहा कि जब देश के कुछ चुनिंदा अमीर लोगों का 3.5 लाख करोड़ का कर्जा माफ हो सकता है तो इस देश के किसानों का 50 हजार करोड़ का कर्जा क्यों माफ नहीं किया जा सकता. राहुल गांधी ने मंच से दावा किया की यदि उनकी सरकार बनी तो वह किसानो का सौ प्रतिशत कर्जा माफ कर देंगें.

वहीं कांग्रेस पर वार करते हुए अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस ने देश के किसानों के साथ हमेशा अन्याय किया है. लोकतंत्र में फैसला जनता-जनार्दन करती है, कोई परिवार फैसला नहीं कर सकता है. राहुल बाबा, कांग्रेस की 4-4 पीढ़ी ने देश पर राज किया, आपने देश की जनता के लिए क्या किया वो बताओ. जवाहर लाल नेहरू ने शासन किया, इंदिरा गांधी ने किया, राजीव गांधी ने किया, सोनिया गांधी ने शासन किया मगर देश में विकास कभी नहीं आया.

साथ ही अमित शाह ने राहुल गांधी पर तंज करते हुए कहा कि राहुल बाबा जोर-जोर से बोल रहे थे कि मध्य प्रदेश और राजजगह में कांग्रेस की सरकार बनेगी. राहुल बाबा स्वप्न देखना अच्छी बात है पर दिन में सपने देखना अच्छा नहीं होता है. दस साल तक कांग्रेस की केंद्र में सरकार रही पर इन्होने राजजगह को क्या दिया? यूपीए सरकार में राजजगह को 1 लाख 9 हजार करोड़ रुपये मिला था. लेकिन बीजेपी सरकार आई तो राजजगह को 2 लाख 63 हजार करोड़ रुपये देने का काम किया गया.

वहीं मोदी सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए शाह ने कहा कि गरीबों के लिए, आदिवासियों के लिए, दलितों के लिए, पिछड़ों के लिए, महिलाओं के लिए, किसानों के लिए, युवाओं के लिए मोदी सरकार 129 योजनाएं लेकर आई है. राष्ट्रीय अध्यक्ष कांग्रेस ने देश के आदिवासियों के लिए कभी कुछ नहीं किया. जरा एक हिसाब दे दो राहुल बाबा कि कांग्रेस ने किसानों और दलितों के लिए क्या किया?

बता दें कि राजजगह में किसान मतदाता काफी प्रभावी हैं. आकड़ों की मानें तो राजजगह के शहरी इलाकों में पूरी आबादी का सिर्फ एक चौथाई भाग ही रहता है. जबकि राजजगह में किसान मतदाताओं की बात करें तो 53 प्रतिशत मतदाता किसान हैं. वहीं आधे से अधिक जनता के पास खेती के लिए अपनी भूमि है. जबकि आदिवासियों की बात करें तो इनकी संख्या भी राजजगह के शहरी इलाकों में रह रहे आबादी से ज्यादा है. यही कारण है कि राजनीतिक पार्टियां विधानसभा चुनावों में इन दोनों समुदायों को खुश करने में जुटी हुई हैं क्योंकि राजजगह के किसान और आदिवासी जिस पार्टी के पक्ष में होगें सरकार उसी की बनेगी.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment