Tuesday, March 12, 2019

योगीराज में पुलिशवालों की बड़ी गुंडागर्दी, व्यवसाई से लुटे 1.85 करोड़ रुपये

उत्तर प्रदेश की लखनऊ पुलिस एक बार फिर विवादों के घेरे में आ गये है। इस बार जनता के रक्षक खे जाने वाले लखनऊ पुलिस ने ही डकैती कर डाली । पुलिस ने घर में घुसकर एक करोड़ 85 लाख रुपया लुटा और व्यापारी को भी फंसाने की साजिश रची। इस मामले में दो दारोगा के साथ दो सिपाहियों को गिरफ्तार किया गया है।

आपको बता दें कि लखनऊ पुलिस के दरोगा पवन मिश्रा और आशीष तिवारी ने सिपाही प्रदीप तथा मुखबिर मधुकर समेत सात लोगों के साथ ओमेक्स रेजीडेंसी में कोयला व्यवसायी अंकित अग्रहरि के फ्लैट में करोड़ों की ब्लैकमनी के लिए छापामारी कर डकैती की वारदात को अंजाम दिया।

जिसके बाद एसएसपी ने बताया कि दारोगा पवन, आशीष के अलावा मधुकर मिश्र व चार अज्ञात के खिलाफ डकैती समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। एसएसपी ने बताया कि दारोगा पवन, आशीष तिवारी, सिपाही प्रदीप और उसके चालक आनंद यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, मुखबिर व अन्य की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही हैं।

पैसे लेकर पुलिसवाले पैसा लेकर फरार।

व्यापारी के मुताबिक उनके यहां 3।38 करोड़ रुपये थे, जिसमें से आरोपितों ने बेड और दीवान में रखे 1।85 करोड़ रुपये लूट लिए। मामला खुला तो इनकम टैक्स की टीम को बुलाकर बचे 1।53 करोड़ रुपये उनके हवाले कर दिए। पड़ताल में घटना का राजफाश हुआ तो दोनों दारोगा, सिपाही और मुखबिर समेत सात लोगों के खिलाफ डकैती समेत अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। इसके बाद दोनों दारोगा के आवास से 36 लाख रुपये बरामद भी कर लिए गए। बाकी पैसा लेकर मधुकर मिश्रा और साथी फरार हैं। इसी क्रम में एसएसपी ने आरोपित दारोगा आशीष, पवन, सिपाही प्रदीप समेत तीनों को निलंबित कर उनकी गिरफ्तारी कर ली।

Share this&#8230
Share on FacebookFacebookTweet about this on TwitterTwitter

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment