Tuesday, March 12, 2019

21 वर्ष से भारत के खिलाफ दिल्ली में जीत के लिए तरस रही है कंगारू टीम, क्या होगा इस बार?

नई दिल्ली । भारत व ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे पांच वनडे मैचों की सीरीज में मेहमान टीम ने तीसरे और चौथे वनडे में जैसा प्रदर्शन किया है उससे टीम इंडिया की वनडे सीरीज जीतने की उम्मीद को थोड़ा धूमिल कर दिया है। मोहाली में शायद ही किसी ने सोचा था कि भारतीय टीम को हार का सामना करना पड़ेगा, लेकिन कंगारू टीम ने अपने वनडे क्रिकेट इतिहास का सबसे लक्ष्य चेज करते हुए ये कमाल कर दिया। अब पांच वनडे मैचों की सीरीज में दोनों टीमें 2-2 की बराबरी पर है और इस वनडे सीरीज को जीतने के लिए दोनों टीमों के पास एक ही मौका है।

ऑस्ट्रेलिया और इंडिया की बात करें तो फिरोजशाह कोटला मैदान पर दोनों टीमों ने अब तक कुल पांच मैच खेले हैं जिसमें भारत को तीन जबकि ऑस्ट्रेलिया को दो मैचों में जीत मिली है। कोटला मैदान पर ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 21 वर्ष पहले भारत के खिलाफ जीत दर्ज की थी। उसके बाद ये लेकर अब तक वो इस मैदान पर जीत की तलाश में हैं। कंगारू टीम को कोटला मैदान पर आखिरी बार भारत को चार विकेट से हराया था। ट्राइंगुलर सीरीज के फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को पहले 227 रन पर आउट कर दिया और इसके बाद टीम के कप्तान स्टीव वॉ के 57 रन साथ ही माइकल बेवन के 75 रन की पारी के दम पर भारत को हराया था और खिताब अपने नाम किया था।

फिरोजशाह कोटला मैदान पर दोनों टीमों के बीच आखिरी वनडे मैच वर्ष 2009 में खेला गया था और इस मैच में टीम इंडिया ने कंगारू टीम को छह विकेट से हराया था। इस वक्त आखिरी वनडे में कंगारू टीम के खिलाफ खेलने वाले दो खिलाड़ी ही टीम इंडिया में मौजूद हैं। उनमें से एक नाम धौनी का है और दूसरा नाम रवींद्र जडेजा का, लेकिन इस बार के मुकाबले में धौनी और जडेजा ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ नहीं खेलेंगे। धौनी पहले ही वनडे टीम से बाहर हैं और भारतीय टीम ने जडेजा को पहले तीन वनडे में मौका दिया था और अब उनकी जगह किसी और खिलाड़ी को आजमाया जा सकता है। इससे पहले भी चौथे वनडे के लिए टीम के अंतिम ग्यारह में जडेजा की जगह युजवेंद्र चहल को शामिल किया गया था।

कोटला मैदान पर भारत व ऑस्ट्रेलिया किसी भी टीम ने 300 का आंकड़ा नहीं छूआ है। भारत का यहां पर बेस्ट स्कोर 289/6 है जबकि ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेट टीम का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 294/3 रहा है।

Web Title : rkk

No comments:

Post a Comment