Tuesday, March 12, 2019

देखें, ऑस्ट्रेलिया को चौथे वनडे में जीत दिलाने के बाद पवेलियन लौटते एश्टन टर्नर और जायरिचर्डसन..

आज एक बार फिर मै कुछ खेल से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

मेजबान भारत और ऑस्ट्रेलिया (India vs Australia) की टीमें बुधवार (13) मार्च को पांचवें वनडे में आमने-सामने होंगी. दोनों ही टीमें सीरीज में दो-दो मैच जीत चुकी है. इस तरह पांचवां वनडे सीरीज का निर्णायक मैच हो गया है. जो भी टीम यह मैच जीतेगी, वह सीरीज भी अपने नाम कर लेगी. ऑस्ट्रेलिया के मुकाबले भारत के लिए यह मैच ज्यादा अहम हो गया है. भारतीय टीम पहले ही टी20 सीरीज हार चुकी है. अगर वह पांचवां वनडे मैच हारी तो यह सीरीज भी गंवा देगी. यह विश्व कप से पहले भारत का आखिरी मैच भी होगा, ऐसे में वह जीत के साथ इस टूर्नामेंट में एंट्री करना चाहेगा. विश्व कप 30 मई से खेला जाना है.

यह मैच दिल्ली के फिरोजशाह कोटला स्टेडियम में खेला जाएगा.
इस मैच का रिकॉर्ड मेजबान टीम (Team India) के पक्ष में है. भारत ने यहां 19 वनडे मैच खेले हैं. इनमें से 12 में उसे जीत मिली है. छह मैचों में टीम इंडिया यहां हार गई थी. एक मैच बारिश के कारण रद्द हो गया था.

ऑस्ट्रेलिया की बात करें तो उसने यहां पांच वनडे मैच खेले हैं. उसे यहां पांच में से सिर्फ दो मैचों में जीत मिली है. तीन मुकाबले में वह हार चुका है. उसने यहां भारत और जिम्बाब्वे को एक-एक बार हराया है. जबकि भारत के खिलाफ उसे तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा है.

ऑस्ट्रेलिया को इस मैदान पर आखिरी जीत तब मिली थी, जब मौजूदा टीमों के कुछ खिलाड़ी ठीक से चलना भी नहीं सीख पाएं होंगे. जी हां, ऑस्ट्रेलिया ने यहां आखिरी बार 21 साल पहले मैच जीता था. तब उसने भारत को चार विकेट से हराया था.ट्राएंगुलर सीरीज के फाइनल मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया ने पहले भारत को 227 रन पर आउट किया. फिर माइकल बेवन के 75 और कप्तान स्टीव वॉ के 57 रन की बदौलत ट्रॉफी पर कब्जा कर लिया था.

2009 में धोनी ने बनाए थे 71 रन

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच 21वीं सदी में कोटला में एक ही मैच खेला गया है. साल 2009 में खेले गए इस मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को छह विकेट से हराया था. भारत की मौजूदा टीम में सिर्फ दो खिलाड़ी ही ऐसे हैं, जो 2009 के मुकाबले में भी खेले थे. ये खिलाड़ी एमएस धोनी और रवींद्र जडेजा हैं. धोनी ने उस मैच में 71 रन की नाबाद पारी खेली थी. जडेजा ने मैच में दो विकेट लिए थे.

दोनों ही टीमें नहीं बना सकी हैं 300 का स्कोर
भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमों ने चौथे वनडे में 350 से बड़ा स्कोर बनाया था. ऐसे में प्रशंसक दिल्ली के कोटला स्टेडियम में भी बड़े स्कोर की उम्मीद कर रहे होंगे. ऐसे प्रशंसकों को हम याद बताना चाहेंगे कि कम से कम रिकॉर्ड बुक यहां बड़े स्कोर की संभावना नहीं जताता. भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही टीमें यहां एक भी बार 300 का स्कोर खड़ा नहीं कर पाई हैं. ऑस्ट्रेलिया का यहां सर्वोच्च स्कोर 294/3 रहा है. भारत तो यहां कभी 290 रन भी नहीं बना सका है. उसका सर्वोच्च स्कोर 289/6 है.

निचे कमेंट करके अपने राय जरुर बताये की आपको ये पोस्ट कैसी लगी

No comments:

Post a Comment