Wednesday, March 13, 2019

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और उनके साथ दांडी मार्च करने वाले सभी आंदोलनकारियों को आज श्रद्धांजलि अर्पित की


प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी और उनके साथ दांडी मार्च करने वाले सभी आंदोलनकारियों को आज श्रद्धांजलि अर्पित की। 89 वर्ष पहले आज ही के दिन महात्मा गांधी ऐतिहासिक दांडी यात्रा पर निकले थे।

प्रधानमंत्री ने अपने ब्‍लॉग में दांडी मार्च और बापू के आदर्शों तथा कांग्रेस की कार्यप्रणाली से उनके मतभेद की चर्चा करते हुए कहा कि सरदार पटेल ने दांडी मार्च की योजना बनाने में प्रमुख भूमिका निभाई थी और उन्होंने हर पहलू पर पूरी बारीकी से विचार किया था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि ब्रिटिश लोग सरदार पटेल से इतने डरे हुए थे कि उन्होंने दांडी यात्रा शुरू होने से पहले ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया था क्योंकि वे सोचते थे कि इससे गांधी जी शायद घबरा जाएंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि गांधी जी ने लोगों को सबसे गरीब व्यक्ति की हालत पर विचार करने की सीख दी और बताया कि लोगों के प्रयासों से उसकी हालत कैसे सुधर सकती है। प्रधानमंत्री मोदी ने ये भी कहा कि सरकारी कामकाज के सभी पहलुओं में यही मूल विचार रहता है कि गरीबी दूर करने और खुशहाली लाने में इससे कैसे मदद मिले। सरकार ने भ्रष्ट लोगों को दंडित करने के लिए हर संभव प्रयास किया है और देश ने देखा है कि कांग्रेस किस तरह भ्रष्टाचार का पर्याय बन गई थी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बापू का लोकतंत्र में पक्का विश्वास था और वे कहते थे कि लोकतंत्र ही एक ऐसी व्यवस्था है, जिसमें कमजोर वर्गों को भी संपन्न और मजबूत वर्गों के समान अवसर मिलते हैं लेकिन, कांग्रेस ने देश को आपातकाल में धकेला और लोकतंत्र की सरासर अनदेखी की गई। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश की मौजूदा केन्द्र सरकार बापू के बताए रास्ते पर चल रही है और कांग्रेस वाली कार्यप्रणाली से देश को मुक्त कराने का सपना पूरा करने में लगी है।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment