Tuesday, March 12, 2019

पनीर खाना शरीर के लिए हो सकता है खतरनाक, जाने कैसे

आजकल के समय आप किसी के घर भी जाते है तो आपको खाने में पनीर जरुर परोसा जाता है। वही शादी पार्टी में पन्नेर की सब्जी खाने में जरुर बने जाती है। वही कई लोग पनीर ताजा और हेल्थी समझकर ही खरीदते हैं लेकिन क्या आपको पता है पनीर खाना आपके लिए खतरनाक हो सकता है।

जानकारी के अनुसार उस पनीर में कुछ माइक्रोबायोलॉजिकल बैक्टेरिया पैदा हो जाते हैं। दरअसल कंज्यूमर वॉयस की एक रिपोर्ट में ये खुलासा हुआ है कि पनीर के कई बड़े ब्रांड हैं जो एफएसएसआई के मानकों पर खरे नहीं उतरते हैं।

हाल ही में कंज्यूमर वॉयस ने पनीर के आठ ब्रांड का डीएनए टेस्ट कराया जिसमें 3 एफएसएसआई के सेफ्टी और हाइजीन दोनों क्राइटेरिया पर खरे उतरते हैं लेकिन 4 ब्रांड इन क्राइटेरिया से खरे नहीं उतरे है।

बॉलीवुड एक्ट्रेस ने शेयर किया अपना बाथरूम वीडियो, सोशल मीडिया पर हुआ वायरल

कंज्यूमर वॉयस ने बीआईएस और एफएसएसआई के मानकों के आधार पर पनीर का डीएनए टेस्ट कराया। इस टेस्ट में सामने आया है पनीर के तीन ब्रांड ऐसे हैं जिसके अंदर माइक्रोबायोलॉजिकल कंटेंट नहीं है। लेकिन 4 ऐसे भी ब्रांड हैं जिसमें माइक्रोबायोलॉजिकल काफी मात्रा में पाए गए हैं। माइक्रोबायोलॉजिकल एक तरह के बैक्टेरिया कंटेंट होते हैं, जो किसी भी फूड प्रोडक्ट में हाइजीन की कमी की वजह से पैदा होते हैं। इससे उस फूड प्रोडक्ट अन हेल्दी हो जाता है। और इस वजह से वो हमारे सेहत के लिए बहुत ही हानिकरक होता है।

कंज्यूमर वॉयस के टेक्निकल अफसर जो इस पनीर की टेस्टिंग से भी जुड़े हैं सी चौधरी ने बताया कि हमने एफएसएसआई के मानकों के आधार पर ही पनीर की टेस्टिंग कराई है। हमने पाया कि कुछ ब्रांड्स में माइक्रोबायोलॉजिकल कंटेंट हैं जो स्वास्थ्य के लिए हानीकारक हैं।

मिल्क प्रोडक्ट्स के लिए FSSAI के पास स्टैंडर्ड है। दूध के प्लांट से जब दूध या कोई भी मिल्क प्रोडक्ट्स मैन्यूफ्रेक्चर होता है, वहां से रिटेलर के पास आने तक और कंज्यूमर के हाथ में जाने तक एक कोल्ड चेन मेंटेन करनी होती है। इस दौरान उस प्रोडक्ट को 8 डिग्री से ज्यादा के तापमान में नहीं रखा जाना चाहिए। मिल्क प्रोडक्ट्स को ठंडे में रखना अनिवार्य होता है। अगर ऐसा नहीं किया जाता है तो उसमें कई तरह के बैक्टेरिया पैदा हो जाते हैं। कच्चा पनीर और जो पनीर खुले में रखा है उसमें बैक्टेरिया की ज्यादा आशंका होती है।

Share this&#8230
Share on FacebookFacebookTweet about this on TwitterTwitter

No comments:

Post a Comment