Wednesday, March 13, 2019

क्या हार्दिक पटेल का साथ मिलने से मोदी के गढ़ में बीजेपी को मात दे पाएगी कांग्रेस ?

12 मार्च 2019 को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी  ने साल का सबसे बड़ा राजनितिक चाल चल दिया है। कांग्रेस ने पाटीदार आंदोलन नेता हार्दिक पटेल को पार्टी में शामिल कर लिया है। कांग्रेस के लिए यह कदम गुजरात में कांग्रेस की पूर्णजन्म के तौर पर देखा जा सकता है।  

अगर आबादी की बात करे तो गुजरात में तकरीबन 4 करोड़ 35 लाख मतदाताओं में 1 करोड़ से ज़्यादा मतदाता पटेल पाटीदार बिरादरी से हैं। और गुजरात विधानसभा में 182 सीटें हैं। ऐसे में 150 सीटें पर पटेलों का प्रभाव है। और पटेलों के 80 से 85% वोट बीजेपी के पाले में आते रहे है।  

लेकिन साल 2015 में हुए पाटीदार आंदोलन और के बाद गुजरात में हुए छेत्रिय चुनावों स्थानीय चुनावों में भाजपा को ग्रामीण क्षेत्रों और इलाकों में भारी नुकसान भुगतना पड़ा जिसका सीधा फायदा कांग्रेस को दिखाई देने लगा।

इसके फलस्वरूप जिस कांग्रेस पार्टी को पाटीदार अपना मत देने के लिए अछूत समझते थे, वो भावनाएं बदल चुकी हैं। काफी बड़ी मात्रा में पाटीदार समाज अब इस बार के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को अपना वोट दे सकते हैं।  

जो 80-85% पाटीदार-पटेल के वोट भाजपा को मिलते हैं वहीं पर हार्दिक पटेल सबसे बड़ी सेंध करने की फ़िराक में है।” हार्दिक का कड़वा पटेल होने के कारण कड़वा पटेलों का समर्थन उनको हासिल है ऐसा माना जा रहा है।

और साथ ही साथ अगर कांग्रेस पटेलों की 40से 50 फीसदी वोट अपने पाले में लाने में कामयाब रही तो 26 में से 12 या 13 लोकसभा सिट अपने नाम कर सकती।   

Share this&#8230
Share on FacebookFacebookTweet about this on TwitterTwitter

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment