Thursday, August 15, 2019

Raksha Bandhan 2019: खास है ये रक्षाबंधन, जानें राखी बांधने के लिए उचित समय

देशभर में 73वें स्वतंत्रता दिवस और रक्षाबंधन का त्यौहार एक ही दिन होने की वजह से लोगों में काफी उत्साह देखने को मिल रहा है। इस बार रक्षाबंधन का दिन पूरी तरह भद्रा से मुक्त है।

रक्षाबंधन

किसी भी शुभ कार्य में भद्रा का विशेष ध्यान रखा जाता है। बता दें कि भद्रा एक अशुभ मुहूर्तकाल होता है जो बीते कई सालों से रक्षाबंधन पर पड़ रहा था। लेकिन इस बार भद्रा नहीं होने से कभी भी राखी बांधी जा सकती है। वहीं भद्रा में राखी नहीं बांधी जाती। सूर्य की पुत्री के रूप में भद्रा को जाना जाता है और उनका स्वभाव क्रूर है। ब्रह्मा जी ने कालगणना और पंचांग में भद्रा को विशेष स्थान दिया है। भद्रा में शुभ कार्य निषिद्ध हैं। इस बार रक्षाबंधन पर दोपहर 1:30 से 15:00 राहुकाल होगा। राखी बांधने के लिए इस समय का त्याग करें।

रक्षाबंधन

ध्यान रहे गुरुवार(15 अगस्त) होने की वजह से भी इस बार राखी पर विशेष मुहूर्त है। 15 अगस्त को सवेरे 05:53 से शाम 6:01 तक विशेष योग रहेगा। रात्रिकालीन भी अमृत योग उपलब्ध होगा।

उचित समय :

  • सुबह 6 बजे से 7:30 बजे तक (शुभ)
  • सुबह 10:48 बजे से दोपहर 12:26 तक (चर)
  • दोपहर 12:26 से 1:29 बजे तक (लाभ)
  • दोपहर 3 बजे से 3 :41 बजे तक (अमृत)
  • शाम 5:19 बजे से 6:57 बजे तक (शुभ)
  • शाम 6:57 बजे से रात 8:19 बजे तक (अमृत)

रक्षाबंधन

सभी जानते हैं कि रक्षाबंधन का पवित्र पर्व श्रावण शुक्ल पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन बहनें अपने भाई की रक्षा के लिए उनके कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती हैं और भाई बहनों को जीवन भर उनकी रक्षा का वचन देते हैं। राजसूय यज्ञ के समय भगवान कृष्ण को द्रौपदी ने रक्षा सूत्र के रूप मैं अपने आंचल का टुकड़ा बांधा था। इसी के बाद से बहनों द्वारा भाई को राखी बांधने की परम्परा शुरू हो गई।

    अपने पांच साल के कार्यकाल के दौरान यह पहली बार हुआ था जब भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस में संवादताताओं से रूबरू हुए ।…

    No comments:

    Post a Comment