Saturday, October 12, 2019

SARAS Aajeevika मेला का शुभारंभ

SARAS Aajeevika मेला का शुभारंभ SARAS Aajeevika मेला दीनदयाल अंत्योदय योजना &#8211 राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (DAY &#8211 NRLM) के तहत एक पहल है। पहल का उद्देश्य ग्रामीण महिला एसएचजी &#8211 स्व सहायता समूहों को एक मंच के तहत लाना है। यह उन्हें उनके कौशल को दिखाने, उनके उत्पादों को बेचने और खरीदारों के साथ संबंध बनाने में मदद करने के लिए है। पहल के माध्यम से महिलाओं को शहरी ग्राहकों की मांग को समझने के लिए जोखिम मिलेगा।

मेले के बारे में

कपार्ट द्वारा आयोजित किया जा रहा मेला पीपुल्स एक्शन और ग्रामीण प्रौद्योगिकी, ग्रामीण विकास मंत्रालय के विपणन शाखा, एडवांसमेंट फॉर पीपुल्स ने आयोजित किया है। मेला 10 अक्टूबर 2019 और 23 अक्टूबर 2019 के बीच इंडिया गेट के लॉन में आयोजित किया जाना है। 200 से अधिक स्टाल लगाए जाने हैं। देश भर की 500 से अधिक SHG महिलाओं के भाग लेने की उम्मीद है।

मेला के दौरान मंत्रालय ने जीएसटी, विपणन, ई-मार्केटिंग, उत्पाद डिजाइन, पुस्तक रखने आदि में भाग लेने वाली महिलाओं के कौशल को तेज करने के लिए कार्यशाला आयोजित करने की भी योजना बनाई है।

मेले की मुख्य विशेषताएं

  • आंध्र प्रदेश की कलमकारी साड़ी &#8211 कलमकारी सूती या रेशमी कपड़े पर की जाने वाली चित्रकला की प्राचीन शैली है। उन्हें हाथ से रंगा जाता है। प्रक्रिया में केवल प्राकृतिक रंगों का उपयोग किया जाता है। इसमें 23 चरण शामिल हैं।
  • इनके अलावा, छत्तीसगढ़ से कोसा साड़ियाँ, कर्नाटक से आईकल साड़ियाँ, झारखंड से तसर सिल्क, आदि भी हैं।
  • बिहार से मधुबनी पेंटिंग &#8211 यह एक कला है जिसमें आँख &#8211 ज्यामितीय पैटर्न को पकड़ना है। इसमें काली पूजा, सूर्य षष्ठी, उपनयन, होली और दुर्गा पूजा जैसी अनुष्ठान सामग्री शामिल है।
  • इसमें बिहार से सिक्की शिल्प और लाख की चूड़ियाँ, हरियाणा से टेराकोटा, डोकरा शिल्प, सबाई घास उत्पाद शामिल हैं
  • प्राकृतिक खाद्य उत्पाद

तो दोस्तों यहा इस पृष्ठ पर SARAS Aajeevika मेला का शुभारंभ के बारे में बताया गया है अगर ये आपको पसंद आया हो तो इस पोस्ट को अपने friends के साथ social media में share जरूर करे। ताकि वे इस बारे में जान सके। और नवीनतम अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहे।

SARAS Aajeevika मेला का शुभारंभ Parinaam Dekho.

No comments:

Post a Comment