Saturday, November 9, 2019

बच्चों में बढ़ा आई स्ट्रोक का खतरा, देर रात फोन देखने से हो रही हैं आंखें टेढ़ी

आज के समय में स्मार्टफोन का प्रचलन काफी तेजी से बढ़ रहा है। जिसके चलते बच्चों को भी इसकी लत लग गई है। स्मार्टफोन में देर रात तक वीडियो गेम खेलना या लाईट बंद कर के फोन चलाने से आपकी आंखों के लिए घातक साबित हो सकता है। वहीं चीन के डॉक्टरों ने दावा किया है कि इससे आई स्ट्रोक और बच्चों में आंखें टेढ़ी होने का भी खतरा बढ़ जाता है।

बता दें कि चीन में एक व्यक्ति की देर रात स्मार्टफोन देखने की लत के कारण आंखों की रोशनी चली गई। डॉक्टरों के अनुसार रात को सोने के समय स्मार्टफोन देखने की वजह से इस व्यक्ति को आई स्ट्रोक हुआ और एक झटके में उसकी आंखों की रोशनी चली गई।

आपको बता दें कि डॉक्टरों ने वांग में सेंट्रल रेटिनल आर्टिओकक्लूशन नामक बीमारी की पहचान की है। इस बीमारी को आई स्ट्रोक भी कहा जाता है। यह आंखों के रेटिना में ऑक्सीजन पहुंचाने वाली धमनियों के संकरा होने या अवरूद्ध होने की वजह से होती है।

spasht awaz

इससे दुनियाभर में दो करोड़ से ज्यादा लोग पीड़ित हैं। हालांकि, अमेरिकी डॉक्टरों का मानना है कि वांग को ओकक्युलर माइग्रेन का दौरा पड़ा होगा, जिससे अस्थायी तौर पर उसकी दृष्टि चली गई। ऐसा रेटिना या आंखों के पीछे के हिस्से में मरोड़ की वजह से होता है।

spasht awaz

वहीं, वांग ने बताया कि वह अपनी दाईं आंख का इस्तेमाल अपने फोन को देखने के लिए कर रहा था और उसे कुछ शब्द दिखाई दे रहे थे और कुछ दिखाई नहीं दे रहे थे। उसके डॉक्टर ली ताओ ने कहा कि वांग की दृष्टि स्मार्टफोन के अत्यधिक इस्तेमाल की वजह से गई है, क्योंकि इससे उसकी दृष्टि पर अत्यधिक जोर पड़ रहा था।  वांग ने स्वीकार किया कि उसे रात को अंधेरे में लंबे समय तक स्मार्टफोन पर वीडियो गेम खेलने की लत थी।

spasht awaz

आपको बता दें कि आजकल के बच्चे मोबाइल, टैब और लैपटॉप पर ही नजरें गड़ाए रहते हैं।  जिससे बच्चों की आंखों पर घातक प्रभाव पड़ रहा है। जिससे बच्चों की दूर की नजर कमजोर हो रही हैं और आंखों में रुखापन आ जाता है। इससे बच्चों की आंखें टेढ़ी होती जा रही हैं और उनके चश्मे का नंबर तेजी से बढ़ रहा है।

:

शोध: इतनी मात्रा में पानी पिने से कम होता है वजन

अगर आपको भी होती है सर्दियों में एलर्जी, तो करें ये आसान काम

चश्मे को कहें बाय-बाय: इन उपायों से बढ़ाएं आंखों की रोशनी

स्पष्ट आवाज़ पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

बच्चों में बढ़ा आई स्ट्रोक का खतरा, देर रात फोन देखने से हो रही हैं आंखें टेढ़ी Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment