Sunday, November 24, 2019

एनसीपी विधायकों से मुलाकात के बाद बंद कमरे में शरद पवार ने की उद्धव के साथ बैठक

मुंबई : महाराष्ट्र  में जारी सियासी उठापटक के बीच सुप्रीम कोर्ट से कोई राहत नहीं मिलने के बाद अब शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने अपने विधायकों को टूट-फूट से बचाए रखने पर फोकस करना शुरू कर दिया है। शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे ने रविवार को मुंबई के रेनेसां होटल में एनसीपी विधायकों से मुलाकात के बाद शरद पवार के साथ बंद कमरे में बैठक की है। उधर, बागी अजित पवार को भी मनाने की कोशिशें तेज हो गई हैं।

सूत्रों के मुताबिक, उद्धव ठाकरे का अहमद पटेल से भी मुलाकात का कार्यक्रम है। शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस तीनों के बड़े नेताओं की कोशिश है कि अपने विधायकों का पार्टी के प्रति भरोसा बरकरार रहे ताकि बीजेपी या अजित पवार की ओर से उन्‍हें तोड़ने की कोशिश सफल न होने पाए।

उद्धवठाकरेकेसाथशरदपवारकीमुलाकात
रविवार को शरद पवार अपने विधायकों से मिलने के लिए होटल पहुंचे थे। शरद के साथ उनकी बेटी सुप्रिया सुले भी मौजूद थीं। साथ-साथ शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे भी रेनेसां होटल पहुंचे हैं। यहीं पर उद्धव ठाकरे के साथ उनकी मुलाकात हुई। इस बीच एनसीपी के दो और विधायकों बाबा साहेब पाटिल (अहमदपुर से एमएलए) और दौलत दरोडा (शाहपुर सीट से एमएलए) ने अपने समर्थकों से विडियो मेसेज भेजकर कहा है कि वे सुरक्षित हैं और पार्टी के साथ हैं।

इन विधायकों ने कहा क‍ि वे अजित पवार के साथ-साथ एनसीपी चीफ शरद पवार के भी साथ हैं। एनसीपी में उठापटक के बाद ये विधायक भूमिगत हो गए थे और चर्चा थी कि वह अजित पवार के खेमे में आ गए हैं। उधर, बागी हुए अजित पवार को भी मनाने की कोशिशें तेज हो गई हैं। आज सुबह एनसीपी के दो वरिष्ठ नेता महाराष्ट्र विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष और एनसीपी नेता दिलीप वलसेपाटील और महाराष्ट्र के पूर्व वित्त मंत्री जयंत पाटिल उनसे मिलने गए थे।

अजितपवारकोमनालेंगे: संजयराउत
जयंत पाटिल इस समय एनसीपी के प्रदेश अध्यक्ष हैं और अजित पवार की जगह पर एनसीपी विधायक दल के नए नेता भी चुने गए हैं। इस बीच शिवसेना प्रवक्‍ता संजय राउत ने बड़ा बयान दिया है। उन्‍होंने कहा है कि परिवार में विवाद होता रहता है और हम जल्‍द ही अजित पवार को मना लेंगे। इससे पहले महाराष्ट्र में शनिवार सुबह के चल रहे हाई-वोल्टेज पोलिटिकल ड्रामे के बीच सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार, महाराष्ट्र सरकार, सीएम फडणवीस और डेप्युटी सीएम अजित पवार को नोटिस जारी किया है। सोमवार सुबह साढ़े 10 बजे फिर सुनवाई होगी।

बता दें कि शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस ने महाराष्ट्र के सीएम देवेंद्र फडणवीस और डेप्युटी सीएम अजित पवार के शपथग्रहण को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। सुप्रीम कोर्ट ने सभी संबंधित पक्षों को नोटिस जारी किया। कोर्ट ने तत्काल बहुमत परीक्षण पर कोई फैसला नहीं किया। अब सोमवार को साढ़े 10 बजे फिर से सुनवाई होगी। कोर्ट ने सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि वह सोमवार सुबह राज्यपाल का आदेश और फडणवीस की तरफ से उनके पास दिए गए लेटर ऑफ सपॉर्ट की कॉपी कोर्ट में पेश करें।

No comments:

Post a Comment