Thursday, November 21, 2019

डे-नाइट टेस्ट से पहले जो बोले दादा, वो है भारतीय क्रिकेट के ‘मक्का’ की बात

भारतीय क्रिकेट टीम अपना पहला दिन-रात का टेस्ट मैच खेलने को तैयार है जो 22 से 26 नवंबर के बीच यहां के ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेला जाएगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के अध्यक्ष सौरव गांगुली इस मैच के लिए काफी उत्साहित हैं।

गांगुली ने ईडन गार्डन्स स्टेडियम की पिच का मुआयना करने के बाद मीडिया से बात की। गांगुली ने कहा कि मैच के शुरुआती चार दिनों के टिकट काफी पहले ही बिक चुके हैं। गांगुली ने मुस्कराते हुए कहा, पिच अच्छी लग रही है। मैं काफी उत्साहित हूं। उन्होंने पूछा आपने आखिरी टेस्ट मैच कौनसा देखा था जिसमें शुरुआती चार दिनों के सभी टिकट बिक गए थे?

इस ऐतिहासिक टेस्ट मैच में ईडन गार्डन्स में काफी कुछ होगा। इस मैच के पहले दिन कई पूर्व क्रिकेटर, सेलेब्रिटी और राजनेता मौजूद रहेंगे। गांगुली ने कहा, सचिन तेंदुलकर, सुनील गावस्कर, कपिल देव, राहुल द्रविड़, अनिल कुंबले, हर कोई वहां होगा। चायकाल के समय पूर्व कप्तान कार्ट में बैठकर मैदान के चक्कर लगाएंगे।

गांगुली ने कहा, चायकाल के दौरान म्यूजिकल परफॉर्मेस होगा और दिन के आखिर में सम्मान समारोह। दोनों टीमें, पूर्व कप्तान, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री वहां होंगी। रूना लैला, जीत गांगुली अपनी प्रस्तुति देंगे। गांगुली से जब पूछा गया कि क्या भारत अपने अगले आस्ट्रेलिया दौरे पर दिन-रात टेस्ट मैच खेलेगा? तो उन्होंने कहा, हम इस पर विचार करेंगे।

बता दें कि इ ऐतिहासिक मैच की शुरुआत सैनिकों के ईडन गार्डन्स में हेलीकॉप्टर से उतरने के साथ होगी जो दोनों कप्तानों को गुलाबी गेंद देंगे। इसके बाद शेख हसीना और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ईडन की घंटी बजाकर मैच की शुरुआत करेंगी। चायकाल के दौरान 20 मिनट के ब्रेक में खेल हस्तियां कार्ट में बैठकर मैदान का चक्कर लगाएंगी।

बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) इस मैच के दौरान ओलम्पिक स्वर्ण पदक विजेता निशानेबाज अभिनव बिंद्रा, टेनिस स्टार सानिया मिर्जा, विश्व बैडमिंटन चैम्पियन महिला खिलाड़ी पी.वी. सिंधु और छह बार की विश्व चैम्पियन मुक्केबाज मैरी कॉम को सम्मानित करेगा।

सीएबी बांग्लादेश की उस पहली टेस्ट टीम को सम्मानित करेगा जिसने 2000 में पहली बार भारत का सामना किया था। इस मैच में गांगुली ने टेस्ट कप्तान के तौर पर पदार्पण किया था।

गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद भारत के गुलाबी गेंद से खेलने का रास्ता साफ हुआ है। उन्होंने कहा था कि कप्तान विराट कोहली इसके लिए सिर्फ तीन सेकेंड में मान गए थे।

No comments:

Post a Comment