Friday, November 22, 2019

World Television Day 2019 : बदलते वक़्त के बावजूद कम नहीं हुई TV की अहमियत

आज के वक़्त में ज़माना डिजिटल हो गया है। हर किसी के हाथ में मोबाइल ने जगह बना ली है, लेकिन बावजूद इसके एक ऐसी चीज़ भी है जिसकी अहमियत कम नहीं हुई है, वो है ‘टेलीविजन’। बदला है तो बस इसका स्वरुप। संचार में TV की अहमियत को देखते हुए हर साल 21 नवंबर को World Television Day के तौर पर मनाया जाता है। जबकि संयुक्त राष्ट्र में सबसे पहले World Television Day 21 नवंबर 1997 को मनाया गया।

World Television Day

TV एक ऐसा माध्यम है जो न सिर्फ हमको सूचना देता है बल्कि हमारा मनोरंजन भी करता है इसलिए यह हमारे लिए इतना अहम हो जाता है। बता दें कि दिसंबर 1996 में UN General Assembly (संयुक्त राष्ट्र महासभा) ने 21 नवंबर को विश्व टेलीविजन दिवस यानी World Television Day के तौर पर मनाए जाने की घोषणा की थी। दरअसल, इसी साल 21 नवंबर को पहले World Television Forum की स्थापना की गई थी। इस फॉरम की स्थापना के उपलक्ष्य में ही यह दिवस मनाया जाता है।

World Television Day

इस फॉरम का मकसद एक ऐसा मंच उपलब्ध कराना था जहां सूचना माध्यम के तौर पर TV के महत्व पर बात की जा सके। यही नहीं इस मंच का उद्देश्य बदलती दुनिया में TV के योगदान को सामने लाना भी था क्योंकि TV न सिर्फ जनमत को प्रभावित करता है बल्कि बड़े-बड़े फैसलों पर भी असर डालता है।

World Television Day

TV का सफर भले ही 95 साल पुराना हो, लेकिन यह आज अपने सबसे मॉडर्न अवतार में हमारे बीच है। बता दें कि 1924 में बक्से, कार्ड और पंखे के मोटर से तैयार हुई TV से लेकर स्मार्ट TV के बदलाव का सफर जितना लंबा है, उतना ही दिलचस्प भी। रेडियो के दौर में TV की शुरुआत ही विरोध के साथ हुई थी। समय के साथ लोगों में इसकी दीवानगी यूं बढ़ी कि भारत में ही 1962 में 41 टीवी सेट और एक चैनल से TV की शुरुआत हुई। 1995 तक आते-आते 7 करोड़ भारतीयों के घरों में टेलीविजन जगह बना चुका था। वहीं भारत में कलर TV 1982 में पहुंचा। आलम यह था कि लोग 8 हजार रुपए का TV 15 हजार रुपए में भी खरीदने को तैयार थे।

    आज के वक़्त में ज़माना डिजिटल हो गया है। हर किसी के हाथ में मोबाइल ने जगह बना ली है, लेकिन बावजूद इसके एक ऐसी चीज़ भी है जिसकी अहमियत…

    No comments:

    Post a Comment