Tuesday, January 14, 2020

महंगाई और रोजगार को लेकर बोलीं प्रियंका- ‘भाजपा ने जेब काटकर पेट पर मारी लात’,

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) और मंहगाई को लेकर कांग्रेस कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार पर निशाना साधा है। वहीं खाद्य उत्पादों और ईंधन की कीमतों में आए उछाल के कारण दिसंबर में खुदरा महंगाई दर 5 सालों के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है। जिसे लेकर प्रदेश महासचिव प्रियंका ने केंद्र के मोदी सरकार पर गरीबों की जेब काटकर उनके पेट पर लात मारने का आरोप लगाया है।

सब्जियां, खाने पीने की चीजों के दाम आम लोगों की पहुंच से बाहर हो रहे हैं। जब सब्जी, तेल, दाल और आटा महंगा हो जाएगा तो गरीब खाएगा क्या? ऊपर से मंदी की वजह से गरीब को काम भी नहीं मिल रहा है।

भाजपा सरकार ने तो जेब काट कर पेट पर लात मार दी है। pic.twitter.com/LiSjNlnSWm

&mdash Priyanka Gandhi Vadra (@priyankagandhi) January 14, 2020

वाराणसी: बाबा विश्वनाथ का दर्शन हुआ दुर्लभ, केवल इन कपड़ों में मिलेगी इंट्री!

वहीं प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा, &#8216सब्जियां, खाने पीने की चीजों के दाम आम लोगों की पहुंच से बाहर हो रहे हैं। जब सब्जी, तेल, दाल और आटा महंगा हो जाएगा तो गरीब खाएगा क्या?&#8217 प्रियंका ने आरोप लगाया, &#8216ऊपर से मंदी की वजह से गरीब को काम भी नहीं मिल रहा है। बीजेपी सरकार ने तो जेब काट कर पेट पर लात मार दी है।&#8217

जानिए कौन है नोएडा के नवनिर्वाचित कमिश्नर आलोक सिंह?

गौरतलब है कि खुदरा मुद्रास्फीति की दर दिसंबर, 2019 में जोरदार तेजी के साथ 7.35 % के स्तर पर पहुंच गई है। यह भारतीय रिजर्व बैंक (एसबीआई) के संतोषजनक स्तर से कहीं अधिक है। खाद्य वस्तुओं की कीमतों में तेजी की वजह से खुदरा मुद्रास्फीति में उछाल आया है।

बता दें कि खाद्य पदार्थों की खुदरा महंगाई दर भी 6 साल से ज्यादा के उच्चतम स्तर 14.12% पर रही है। वहीं मोदी सरकार के कार्यकाल में यह पहला मौका है, जब खाने-पीने की चीजों के दाम इस कदर बढ़े हैं। सब्जियों की कीमतें दिसंबर 2019 में पिछले साल दिसंबर 2018 से औसतन 60.5 फीसदी ऊपर चल रही थीं।

सुजीत पांडेय लखनऊ तो, आलोक सिंह नोएडा के बनाये गए पुलिस कमिश्नर

खुदरा महंगाई दर लगातार पांचवें महीने बढ़ी है। पिछले साल दिसंबर का इसका स्तर जुलाई 2014 के बाद सर्वाधिक है। खाद्य खुदरा महंगाई की दर लगातार दसवें महीने बढ़ी है और लगातार दूसरे महीने यह दर दहाई अंक में रही है। नवंबर 2019 में खाद्य खुदरा महँगाई दर 10.01% रही थी। फरवरी 2019 में यह निगेटिव थी। यह एक साल पहले दिसंबर 2018 में यह दर 2.65% निगेटिव रही थी।

स्पष्ट आवाज़ पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

महंगाई और रोजगार को लेकर बोलीं प्रियंका- &#8216भाजपा ने जेब काटकर पेट पर मारी लात&#8217, Spasht Awaz.

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment