Friday, January 10, 2020

हल्दी के सेवन से होते है ये गुणकारी फायदे, इतनी मात्रा में करे प्रयोग

हल्दी हेल्थ के लिए कितनी अच्छी है और यह कितनी गुणकारी है। इसके बारे में तो सभी जानते हैं। चोट लगते ही या घाव होते ही वे सबसे पहले हल्दी लेने दौड़ पड़ती हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि हल्दी रोगाणुओं को रोकने वाली (रोगाणुरोधक या एंटीसेप्टिक) होती है। यह तरह-तरह के इन्फेक्शंस से लड़ने की ताकत देती है।

पीरियड्स के दर्द और क्रैम्प्स से राहत दिलाने में मदद करेंगे ये घरेलू उपाय

अब चाहे अंदरूनी घाव हो या शरीर के बाहर के घाव, हल्दी उन्हें भरने का काम करती है। हल्दी प्राकृतिक रूप से पाए जाने वाले रासायनिक पदार्थ करक्यूमिन की मात्रा अधिक होती है। यह हल्दी के बहुत छोटे से हिस्से में मौजूद होता है, लेकिन सबसे असरदार होता है।

सोते समय शरीर के इस हिस्से पर करें तेल से मालिस, फायदा देख होगी हैरानी

हल्दी का इस्तेमाल आयुर्वेदिक हर्बल दवाओं में होता है, और इससे बनी औषधियां बदन दर्द, थकान दूर करने और सांस संबंधी परेशानियों में असरदार हैं। आईये जानते है इसके फायदे&#8230!

हल्दी क्यों है इतनी लाभकारी-

हल्दी में मौजूद करक्यूमिन एंटी-इन्फ्लेमेट्री गुणों से भरपूर है। इसके फायदों की फेहरिस्त लंबी है। हल्दी किसे, कितनी मात्रा में लेनी चाहिए यह भी जानना बेहद आवश्यक है। एक स्वस्थ व्यक्ति को दिनभर में 500 से 1000 मिलीग्राम करक्यूमिन की जरूरत होती है। एक चम्मच हल्दी में लगभग 200 मिलीग्राम करक्यूमिन होता है और इसलिए दिनभर में 4 या 5 चम्मच हल्दी ले सकते हैं। इसका सीधा सेवन करने की बजाए हल्दी से बने अन्य प्रोडक्ट्स का सेवन करने से भी करक्यूमिन की कमी को पूरा किया जा सकता है।

ये है हल्दी के फायदे-

खून के रिसाव को रोकने या चोट को ठीक करने के लिए हल्दी का आमतौर पर उपयोग होता है, लेकिन हाथ-पैरों में होने वाले दर्द से राहत पाने के लिए भी हल्दी वाला दूध फायदेमंद है। इसके एंटीसेप्टिक और एंटीबायोटिक गुण होते हैं और दूध में मौजूद कैल्शियम के उपयोग में इससे खूब फायदा होता है।

जमा एक्स्ट्रा फैट को कम करने में-

बता दें कि रोजाना एक गिलास दूध में सुबह के समय आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पिएं। इससे शरीर सुडौल रखने में मदद मिलती है। गुनगुने दूध के साथ हल्दी लेने से शरीर में जमा एक्स्ट्रा फैट धीरे-धीरे कम होने लगता है।

हार्ट संबंधी समस्या से समाधान-

हल्दी को नैचुरल लिवर डिटॉक्सीफायर है। इसके इस्तेमाल से रक्त में मौजूद विषैले तत्व बाहर निकलते हैं और ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। रक्त का धमनियों में प्रवाह बढ़ जाता है और हार्ट संबंधी परेशानियां नहीं होती।

सर्दी-जुकाम-

सर्दी, जुकाम या कफ की शिकायत हो तो हल्दी वाला दूध पीना लाभकारी होता है। हल्दी मिला गर्म दूध पीने से सर्दी-जुकाम ठीक होने के साथ फेफड़ों में जमा हुआ कफ भी निकल जाता है।

&#8211 हल्दी के सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं। दूध में हल्दी मिलाकर पीने से हड्डी से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा मिलता है।

&#8211 ब्लड शुगर बढ़ने पर हल्दी वाले दूध का सेवन करना लाभकारी है। शुगर लेवल कम होता है।

&#8211 हल्दी में मौजूद करक्यूमिन कैंसर को बढ़ने से रोकता है।

&#8211 हल्दी पित्ताशय को उत्तेजित करती है, जिससे पाचन सुधरता है और गैस ब्लोटिंग को कम करती है।

&#8211 हल्दी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाती है। इसमें मौजूद लाइपोपॉलीसकराइड नाम का पदार्थ यह काम करता है।

जानिए कैसे सेंधा नमक के सेवन से दूर होती है ब्लड प्रेशर जैसी समस्या

स्पष्ट आवाज़ पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटरपर फॉलो करें। साथ ही फोन पर खबरे पढ़ने व देखने के लिए Play Store पर हमारा एप्प Spasht Awaz डाउनलोड करें।

neeraj singhNeeraj Singh

rajneeraj1993@gmail.com

हल्दी के सेवन से होते है ये गुणकारी फायदे, इतनी मात्रा में करे प्रयोग Spasht Awaz.

No comments:

Post a Comment