Monday, April 27, 2020

केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल सरकार के बीच तनातनी जारी, ममता के खिलाफ घर में ही धरने पर बैठे भाजपा नेता!..

आज एक बार फिर मै खान पान से जुडी कुछ जरुरी बातों के साथ ये नयी पोस्ट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को आखिरी तक पढ़ते रहे ..

नई दिल्ली: देश में कोरोना संकट के बीच केंद्र सरकार और पश्चिम बंगाल की ममता सरकार के बीच तनातनी भी जारी है। इस तनाव के बीच भाजपा नेता ममता सरकार का अनूठे ढंग से विरोध कर रहे हैं। भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल के पार्टी प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय और पश्चिम बंगाल से सांसद बाबुल सुप्रियो अपने-अपने घरों से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ धरने पर बैठ गए हैं। हालांकि कोरोना संकट के कारण यह धरना वीडियो के जरिए किया जा रहा है।
अब ममता बनर्जी के बुलाने पर भी …

पश्चिम बंगाल में कोविड-19 का आकलन करने वाली टीम ने शनिवार को पश्चिम बंगाल सरकार पर असहयोग करने का आरोप लगाया और कहा कि क्या सत्तारूढ़ दल इसके सदस्यों की सुरक्षा की जिम्मेदारी लेगा।
इस पर तृणमूल कांग्रेस की ओर से तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई। पार्टी ने केंद्रीय टीम को &#8216भारत की सबसे अधिक असंवेदनशील टीम करार दिया।&#8217 पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव राजीव सिन्हा को लिखे पत्रों में दोनों टीमों ने वाहनों की व्यवस्था और अन्य प्रासंगिक जानकारी प्रदान करने में असहयोग करने के कई उदाहरणों को चिह्नित किया और संक्रमण को रोकने के लिए लॉकडाउन के सख्त कार्यान्वयन का सुझाव दिया। दोनों टीमें कोलकाता और सिलीगुड़ी में जमीनी हकीकत का जायजा लेने के लिए गई है।
लॉकडाउन तोड़कर ममता सरकार के खिलाफ …

भाजपा ने शनिवार को पश्चिम बंगाल की तृणमूल कांग्रेस सरकार पर राज्य में कोरोना वायरस संकट की गंभीरता को छिपाने और आंकड़ों में हेराफेरी करने का आरोप लगाया और कहा कि मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और उनकी पार्टी के सहयोगी नियमित रूप से लॉकडाउन के दिशानिर्देशों का उल्लंघन कर रहे हैं। भाजपा द्वारा वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए आयोजित मीडिया संवाद में केंद्रीय मंत्री देबश्री चौधरी सहित पश्चिम बंगाल से पार्टी सांसदों ने हिस्सा लिया। उन्होंने कहा कि राज्य में उन्हें जबरन घरों में रहने पर मजबूर किया जा रहा है जबकि तृणमूल कांग्रेस नेताओं एवं कार्यकर्ताओं को घूमने की अनुमति मिली हुई है।

वहीं तृणमूल कांग्रेस ने दौरा कर रही दो अंतर-मंत्रालयी टीमों (आईएमसीटी) को भारत की सर्वाधिक असंवेदनशील टीमें करार देते हुए कहा कि ये बेशर्मी से राजनीतिक वायरस फैलाने की कोशिश कर रही हैं। केंद्रीय टीमें कोलकाता और सिलिगुड़ी में अस्पतालों और पृथक-वासों का दौरा कर रही हैं और अधिकारियों से मुलाकात कर रही हैं। राज्यसभा में तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओ ब्रायन ने ट्वीट किया, &#8216जैसी उम्मीद थी, आईएमसीटी के बंगाल दौरे का कोई मकसद नहीं है। वे ऐसे जिलों का दौरा कर रही है जहां हॉटस्पॉट (कोरोना वायरस से अत्यधिक संक्रमित क्षेत्र) नहीं है, बंगाल से ऑडिट कमेटी के लिए कह रही हैं जो कि अप्रैल की शुरूआत से ही है।&#8217

</>

No comments:

Post a Comment