Thursday, April 23, 2020

डुमुरजोला क्वॉरंटाइन सेंटर पर लगे अव्यवस्था के आरोप

File Photo

हावड़ा, समाज्ञा : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के निर्देश पर डुमुरजोला इंडोर स्टेडियम को रातोंरात क्वॉरंटाइन सेंटर में बदल दिया गया। राज्य सरकार ने कोरोना पीड़ितों के परिवारों को रखने के लिए यहां पर्याप्त सेवाएं प्रदान करने की घोषणा की थी। लेकिन अब यहां अव्यवस्था के आरोप लगाए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार, क्वॉरंटाइन सेंटर में एक महिला ने वीडियो के जरिये आरोप लगाया कि उसे कई दिनों रखने के बाद भी अभी तक टेस्ट नहीं किया गया। इसके अलावा, उसे एक ही मास्क दिया गया था, जिसे 14 दिनों तक चलाने के लिए कहा गया है। एक सैनिटाइजर के बोतल को चार लोग इस्तेमाल करने के लिए दिया गया हैं। महिला ने वीडियो के जरिये में कई अन्य आरोप भी लगाए है। क्वॉरेंटाइन सेंटर से लौटी एक अन्य महिला ने आरोप लगाया कि परिवार के एक सदस्य की मौत होने के बाद उसे इस क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखा गया लेकिन यहां बहुत सी अव्यवस्थाएं है। महिला ने आरोप लगाया कि उसके भाई को बिना टेस्ट किए ही क्वॉरेंटाइन सेंटर से छोड़ा जा रहा था लेकिन प्रतिवाद करने के बाद उसका टेस्ट किया गया जिसमें वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया। अन्य कुछ महिलाओं ने आरोप लगाया कि क्वॉरेंटाइन सेंटर में बच्चों को निम्न गुणवत्ता वाले दूध दिए जा रहे हैं। आरोप है कि डॉक्टरों या अन्य स्टाफ से इसकी शिकायत करने पर वे सीधे कह रहे हैं जो समस्या है नवान्न जाकर बताये। आरोपों के सामने आने के बाद, हावड़ा सदर भाजपा के अध्यक्ष सुरजीत साहा ने कहा, ‘सरकार जानकारी छिपा रही है। लोगों को ज्यादा से ज्यादा जागरूक करने की जरूरत थी। डुमुरजोला ही नहीं, बल्कि पूरे जिले में भी यहीं स्थिति है।’ उन्होंने यह भी दावा किया कि इस तरह जानकारी छीपा कर संक्रमण को रोका नहीं जा सकता।

No comments:

Post a Comment