Monday, April 27, 2020

PRACRITI: IIT-Delhi ने 3 सप्ताह से पहले COVID-19 मामलों की भविष्यवाणी करने के लिए डैशबोर्ड विकसित किया

PRACRITI: IIT-Delhi ने 3 सप्ताह से पहले COVID-19 मामलों की भविष्यवाणी करने के लिए डैशबोर्ड विकसित किया IIT दिल्ली के शोधकर्ताओं ने भारत में COVID-19 के प्रसार की भविष्यवाणी करने के लिए वेब-आधारित डैशबोर्ड विकसित किया है। डैशबोर्ड को PRACRITI-Prediction and Assessment of Corona Infections and Transmissions नाम दिया गया है।

हाइलाइट

डैशबोर्ड COVID-19 की विस्तृत जिलेवार और राज्यवार भविष्यवाणियां प्रदान करता है। डैशबोर्ड बुनियादी रिप्रोडक्शन नंबर “R naught” प्रदान करता है। R0 लोगों की संख्या है जो वायरस एक संक्रमित व्यक्ति से फैलता है।डैशबोर्ड राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय और विश्व स्वास्थ्य संगठन से उपलब्ध आंकड़ों के आधार पर हर जिले, राज्य के लिए R0 मूल्य प्रदान करता है। इसलिए, आर 0 मान की मदद से, बीमारी के प्रसार की भविष्य की भविष्यवाणी प्राप्त की जा सकती है।

डैशबोर्ड के बारे में

डैशबोर्ड गणितीय मॉडल को चार वर्गों में विभाजित करता है, अर्थात् उजागर, अतिसंवेदनशील, संक्रमित और हटाए गए। अतिसंवेदनशील वे लोग हैं जो वायरस के संपर्क में नहीं आते हैं। उजागर वे लोग हैं जो संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में हैं। संक्रमित वे हैं जो वायरस से संक्रमित होते हैं और हटा दिए जाते हैं जो अब वायरस के वाहक नहीं हैं।

महत्व

डैशबोर्ड COVID-19 के बेहतर प्रशासन में मदद करेगा। यह सरकारों को अपनी नीतियां बनाने में मदद करेगा।

तो दोस्तों यहा इस पृष्ठ पर PRACRITI: IIT-Delhi ने 3 सप्ताह से पहले COVID-19 मामलों की भविष्यवाणी करने के लिए डैशबोर्ड विकसित किया के बारे में बताया गया है अगर ये आपको पसंद आया हो तो इस पोस्ट को अपने friends के साथ social media में share जरूर करे। ताकि वे इस बारे में जान सके। और नवीनतम अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहे।

PRACRITI: IIT-Delhi ने 3 सप्ताह से पहले COVID-19 मामलों की भविष्यवाणी करने के लिए डैशबोर्ड विकसित किया Parinaam Dekho.

No comments:

Post a Comment