Friday, May 22, 2020

ओड़िसा के तूफान प्रभावित क्षेत्रों में सामान्य स्थिति शीघ्र बहाल होने की संभावना: एस. एन. प्रधान NDRF



तूफान ऑमपुन से ओडिसा में भी काफी तबाही हुई है। राष्‍ट्रीय आपदा मोचन बल-एनडीआरएफ के महानिदेशक एस. एन. प्रधान ने कल नई दिल्‍ली में संवाददाताओं को बताया कि ओडिसा के तूफानग्रस्‍त क्षेत्रों में 24 से 48 घंटों में सामान्‍य स्थिति बहाल होने की संभावना है।

उन्‍होंने कहा कि मंत्रिमंडल सचिव राजीव गाबा ने तूफान के बाद की स्थिति की समीक्षा के लिए राष्‍ट्रीय संकट प्रबंध समिति की बैठक की। इस बैठक में पश्चिम बंगाल और ओडिसा के मुख्‍य सचिव भी उपस्थित थे।

श्री प्रधान ने कहा कि गृह मंत्रालय का दल संपत्ति के नुकसान का आकलन करने के लिए राज्‍यों का दौरा करेगा। उन्‍होंने कहा कि ओडिसा में स्थिति नियंत्रण में है। उन्‍होंने कहा कि एनडीआरएफ की टीमें अब भी काम में जुटी हैं और जब तक राज्‍यों को जरूरत होगी सेवाएं उपलब्‍ध कराएंगी।

अभी एनडीआरएफ का जो ज्‍यादा काम है अब शुरू हुआ है। क्‍योंकि जो जहां पर डिस्‍ट्रक्‍शन हुआ है या डेमेज हुआ है। उसमें रेस्‍ट्रोरेशन का काम होता है वो बहुत बड़ा होता है और इसमें समय लगता है। तो इसलिए हम लोग राज्‍य सरकार के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं और अभी भी हम लोग डिस्ट्रिक एडमिस्‍ट्रेशन के साथ कोर्डिनेशन में हैं। और जहां वो कहते हैं यहां काम करना है और यहां क्‍लीरेंस करना है और यहां मदद करनी है वो हम लोग करते रहेंगे।

एस. एन. प्रधान ने कहा कि एनडीआरएफ के दलों ने सड़कों से मलबा हटाने और जल्‍द से जल्‍द सामान्‍य स्थिति बहाल करने के लिए रात भर काम किया। उन्‍होंने कहा कि पश्चिम बंगाल में लगभग पांच लाख लोगों को सुरक्षित निकाला गया, जिन्‍हें शिविरों में रहने को कहा गया था।

नेशनल क्राइसेस मैनेजमेंट कमेटी की बैठक हुई कैबिनेट सेक्रेटरी की अध्यक्षता में। फिलहाल यह कहा जा सकता है कि अपेक्षाकृत ओडिसा में कम नुकसान और ज्यादा नुकसान थोड़ा माना जाए तो वो पश्चिम बंगाल में हुआ है और वहां के कुछ जिलों में। अभी जो रेस्ट्रोरेशन का काम है उसमें पहला काम हो रहा है कि रास्ते क्लियर किए जा रहे हैं। पेड़ जो गिरकर कटे पड़े हुए हैं उनको काटा जा रहा है ताकि रास्ते और आवागमन की शुरूआत हो सके।

श्री प्रधान ने कहा कि तूफान के बारे में मौसम विभाग का अनुमान पूरी तरह सटीक था। इससे एनडीआरएफ को तूफानग्रस्‍त क्षेत्रों में जान-माल के नुकसान को न्‍यूनतम करने में मदद मिली।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment