Saturday, December 8, 2018

इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल में दिखाई पहलू खान लिंचिंग शार्ट फिल्म, संघ ने जताई नाराज़गी

देश में बढ़ती हिंसाएं चिंता का विषय है.यह किसी भी समाज के विकास और परिवर्तन की राह नहीं हो सकती.जब देश में डिजिटल होने की बात ज़ोर-शोर से की जाती है तो लगता है की हमारा समाज सभ्य और विकसित होता जा रहा है लेकिन हिंसा की खबरे देश के विकास में बाधा है.पहले उत्तर प्रदेश के दादरी से अख़लाक़ मामले की खबर ने चौकाया उसके बाद पहलू खान की ख़बर ने भी समाज को बाटने का काम किया और अब बुलंदशहर हिंसा ने भी लोगों में गलत सन्देश का संचार किया.अब हाल ही में सरकार के एक फिल्म फेस्टिवल में पहलू खान मॉब लिंचिंग घटनाक्रम पर बनायी गई एक शॉर्ट फिल्म प्रदर्शित की गई है.इस पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कुछ वरिष्ठ नेताओं ने नाराजगी जाहिर की है.

बता दें कि बीते साल अप्रैल माह में राजजगह के अलवर में गोतस्करी के आरोप में पहलू खान नामक इंसान की भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी.अभी इस मामले की जांच चल रही है. बीते हफ्ते गोवा में आयोजित हुए इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल ऑफ इंडिया के नेशनल फिल्म डेवलपमेंट कारपोरेशन के फिल्म समारोह के दौरान पहलू खान की मॉब लिंचिंग पर बनी फिल्म का प्रदर्शन किया गया था.इस फिल्म का शीर्षक अल-वार था.इस फिल्म की टैगलाइन थी ‘धर्म मांस नहीं खाता, बल्कि इंसानों को खाता है’.इस फिल्म समारोह के दौरान फिल्म को तो काफी सराहा गया.

दूसरी तरफ आरएसएस के कुछ वरिष्ठ पोस्टाधिकारियों ने इस पर नाराज़गी ज़ाहिर की है.इस फिल्म का निर्देशन जयदीप यादव द्वारा किया गया है.इस फिल्म में एक गरीब मुस्लिम परिवार की कहानी दिखाई गई है.जोकि पशुपालन से अपना जीवन चलाता है.यह परिवार पशुओं से बेहद प्यार भी करता है.फिल्म के निर्देशक ने बताया कि इस फिल्म का क्लाईमैक्स पुलिस की सुरक्षा में शूट करना पड़ा था.क्योंकि कुछ संगठनों ने उनकी शूटिंग को दो बार रोकने की कोशिश की थी.

यह फिल्म सामरोह के वीविंग सेक्शन में दिखाई गयी थी.एक अख़बार के मुताबिक विश्व हिन्दू के प्रवक्ता सुरेंद्र जैन ने इसकी निंदा की है.उन्होंने आरोप लगाया  है कि इस फिल्म में एक पक्ष दिखाकर हिंदुओं को बदनाम करने की साजिश की गई है. जैन ने कहा कि इस मामले में अभी जांच चल रही है.इसलिए इस फिल्म को सरकारी फिल्म समारोह के साथ ही कहीं भी प्रदर्शित नहीं किया जाना चाहिए.जबकि अन्य ने कहा कि ऐसी जगह इस फिल्म को नहीं दिखाना चाहिए जहां अन्य मुल्कों से भी लोग उपस्थित हों.इससे देश की छवि प्रभावित होती है.

(हसन हैदर)

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment