Saturday, December 8, 2018

सुब्रमण्यम स्वामी ने आखिर क्यों मोदी सरकार और योगी सरकार को दे डाली वॉर्निंग? जानिए पूरा मामला

नई लोकसभा चुनाव आने वाला है और राम मंदिर निर्माण का मुद्दा गर्माया हुआ है। ऐसे में बीजेपी नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी बयान न दें ऐसा होना नामुमकिन लगता है। दरअसल, राम मंदिर मुद्दे को लेकर स्वामी ने वार्निंग दे डाली। उन्होंने ये वार्निंग दी भी है तो केंद्र की मोदी सरकार और उत्तर प्रदेश के योगी सरकार को दी है।

सुब्रमण्यम स्वामी ने मोदी सरकार और योगी सरकार को पहले तो खुद का विरोधी बताया और फिर कहा कि इन दोनों ही सरकारों ने राम मंदिर निर्माण का विरोध किया। स्वामी के द्वारा राम मंदिर को लेकर दी गयी प्रतिक्रिया इस वक्त काफी मायने रखता है क्योंकि इस वक्त राम मंदिर को लेकर काफी ज्यादा हलचल जारी है।

दिल्ली स्थित जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि “अगर हमारा राम मंदिर निर्माण का मामला जनवरी में सूचीबद्ध है, तो हम इसे दो हफ्ते में जीत लेंगे क्योंकि मेरे दो विरोधी पक्षकार केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार हैं। क्या उनके पास मेरा विरोध करना का दम है? अगर उन्होंने ऐसा किया तो मैं सरकार गिरा दूंगा। हालांकि मुझको पता है कि वो इसका विरोध नहीं करेंगे।”

जानकारी दे दें कि राम मंदिर पर इलाहाबाद हाई कोर्ट ने अपने फैसले में विवादित जमीन को 3 हिस्सों में बांटा था। वहीं धर्म सभा के मंच से आरएसएस के अखिल भारतीय सह सरकार्यवाह कृष्णा गोपाल ने बयान जारी किया था कि धर्म सभा का जो भी निर्णय होगा उसे आरएसएस मानेगी। आपको याद दिला दें कि हाल ही में शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपने परिवार समेत अयोध्या पहुंचे थे और सरकार से राम मंदिर निर्माण की तारीख मांगी थी। उनके साथ महाराष्ट्र से भारी संख्या में उनके शिवसैनिक भी आए थे। फिलहाल, ये मामला चुनाव के आने तक गर्म ही रहेगा।

आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment