Sunday, January 13, 2019

हनी ट्रैप मामला : आईएसआई की महिला एजेंट ने 45 भारतीय जवान को फंसाया, इस तरह बिछाती थी जाल

जैसलमेर : राजजगह में हनी ट्रैप के मामले लगातार सामने आ रहे हैं। जिसे लेकर एक के बाद एक खुलासे होते जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि हनी ट्रैप के मामलों में जवानों को ही फंसाया जा रहा है। फिलहाल, सुरक्षा एजेंसियां इस बारे में पहले से ज्यादा सतर्क हो गयी है। जैसलमेर में तैनात जवान सोमवीर से एक हफ्ते से आर्मी इंटेलीजेंस और राजजगह पुलिस की विशेष शाखा के अधिकारियों ने पूछताछ की जिसके बाद कई बड़े खुलासे हुए।

फिलहाल, सबूतों के आधार पर सोमवीर को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस मामले कई चौंकाने देने वाले राज का पर्दाफाश हो रहा है। ऐसा कहा जा रहा है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई की महिला एजेंट ने 45 से ज्यादा जवानों को अपने चंगुल में लिया है।

पाकिस्तानी एजेंट ने फेसबुक के जरिए अनिका चोपड़ा के नाम से अकाउंट से जवानों से दोस्ती कर खुफिया जानकारियां हासिल कर लेती थी। इसके तहत साल 2016 में सबसे पहले अनिका ने सोमवीर सिंह को अपना शिकार बनाया। इसके बाद उसके फ्रेंड लिस्ट में मौजूद लोगों से भी दोस्ती की और फिर कई खुफिया जानकारियां हासिल करनी चाही। अब इन सभी जवानों पर मिलिट्री इंटेलिजेंस (एमआई) सहित टॉप खुफिया एजेंसियां की नजर बनी हुई है। जानकारी है कि पाकिस्तानी एजेंट मिलिट्री नर्सिंग सर्विस के कैप्टन के रूप में खुद की पहचान बताती थी।

सोमवीर जैसलमेर से पहले महाराष्ट्र के अहमदनगर में भी तैनात था और वहीं वह महिला एजेंट के संपर्क में आया था। पैसों के लालच में उसने महिला एजेंट को फेसबुक, व्हाट्सएप के जरिये सूचनाएं और खुफिया तस्वीरें साझा की। उसकी गतिविधियों पर आर्मी इंटेलीजेंस और राज्य पुलिस की विशेष शाखा की नजर थी और पुख्ता सबूत हाथ आते ही उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

सोमवीर शनिवार को जयपुर की विशेष कोर्ट में पेश हुआ और फिर उसे 18 जनवरी तक के लिए पुलिस रिमांड पर भेजा गया। स्वदेशी अर्जुन टैंक के एक्सरसाइज के वीडियो भी सोशल मीडिया के जरिए पाकिस्तान भेजने का आरोप सोमवीर पर लगाया गया है।

मामले का जब खुलासा हुआ तो महिला ने अपनी फ्रेंडलिस्ट छुपाली। दरअसल, नंबर की जांच में पता चला की आईपी एड्रेस पकिस्तान के कराची का है और सोमवीर के पकड़े जाने के बाद डर से आईएसआई एजेंट अनिका ने अपनी निजी जानकारी भी छिपा दी। एजेंसी ने बैंक खातों की जांच में पाया कि साल 2018 के जून में महिला ने सोमवीर के खाते में 5 हजार दिल्ली के एक बैंक में जमा करवाए थे जो  सोमवीर के भाई के खाते में मंगवाया गया था और फिर जुलाई 2018 में 10 हजार जैसलमेर में मौजूद अपने एजेंट के हाथों सोमवीर को भेजे गए।

जांच में यह बात भी सामने आई है कि सूचनाएं पाने के लिए महिला एजेंट सोमवीर सहित दूसरे जवानों के सामने वीडियो कॉल पर निर्वस्त्र होकर डांस किया करती थी।  सोमवीर के फोन से नग्न तस्वीरें मिली है, इसके अलावा बताया जा रहा है कि महिला इसी यूनिट के पांच और जवानों से संपर्क में थी। बताया जा कि वह शादी का झांसा देकर भी सूचनाएं निकलवाती थी। कई जवानों ने देश से गद्दारी करने से इंकार कर दिया मगर सोमवीर उसके गिरफ्त में कैद रहा। इस मामले में रक्षा पीआरओ कर्नल संबित घोष ने भी जानकारी साझा करते हुए बताया कि सेना हर तरह से जांच में एजेंसियों की मदद कर रही है।

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment