Monday, January 14, 2019

बिहार में किसानों की समस्याओं को बड़ा मुद्दा बनाएगी कांग्रेस, पदयात्रा और सभाओं की तैयारियां शुरू

नई लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस पार्टी बिहार में किसानों के मुद्दों, खासकर उपज की ‘सरकारी खरीद नहीं होने’ को बड़ा मुद्दा बनाने की तैयारी में है और इसके लिए अगले महीने पोस्टयात्रा निकालने के साथ छोटी-बड़ी सभाएं भी आयोजित की जाएंगी। कांग्रेस के अध्यक्ष राहुल गांधी फरवरी के पहले हफ्ते में पटना के गांधी मैदान में बड़ी रैली करने वाले है। इस दौरान किसानों से जुड़े मुद्दों को लेकर विभिन्न कार्यक्रमों की घोषणा की जा सकती है।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के राष्ट्रीय सचिव एवं सह-प्रभारी वीरेंद्र सिंह राठौर ने बताया है कि “हम पिछले कई महीनों से किसानों के मुद्दे, खासकर उपज की सरकारी खरीद नहीं होने का मुद्दा उठा रहे हैं। अब हम इसे बड़ा मुद्दा बनाएंगे और आने वाले दिनों में बिहार में कई सभाएं होंगी लेकिन इससे पहले हं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की बड़ी रैली करने जा रहे हैं।” खबरों से जानकारी मिली है कि कांग्रेस बिहार में किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए चंपारण से पोस्ट यात्रा निकाल सकती है। इसकी घोषणा फरवरी के पहले हफ्ते में होने वाली रैली में हो सकती है।

आपको बता दें कि कांग्रेस ने पहले ही किसानों के लिए संवाद और सभाएं शुरू कर दी हैं। हाल ही में बक्सर में पार्टी की ओर से किसान सभा का आयोजन किया गया था। राठौर ने दावा किया है कि  “राज्य में किसानों की उपज की सरकार द्वारा खरीद नहीं की जाती है और इसी वजह से किसान छोटे व्यापारियों को तय कम से कम समर्थन मूल्य से काफी कम कीमत पर अपनी उपज बेचने को मजबूर हो जाते हैं।’  उन्होंने कहा है कि गेंहू की सरकारी खरीद का कम से कम समर्थन मूल्य 1750 रुपये प्रति क्विंटल है लेकिन बिहार में पिछली फसल के दौरान किसान 1200 रुपये से भी कम कीमत पर गेहूं बेचने को मजबूर हुए थे और इसकी वजह सरकारी खरीद का नहीं होना है। साथ ही किसानों की लागत भी नहीं निकल पाई। इस सब के लिए केंद्र और राज्य सरकार ही जिम्मेदार हैं।

कंचन मौर्य

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

इस पोस्ट को अधिक से अधिक लोगो तक शेयर करे, और इस तरह के पोस्ट को पढने के लिए आप हमारी वेबसाइट विजिट करते रहे.

No comments:

Post a Comment