Friday, March 15, 2019

VIDEO: ये है क्रिकेट इतिहास का सबसे डेंजरस कैच, सबके छूट गए पसीने

rahul tripathi

आज के समय में क्रिकेट लोगो की पहली पसंद बना हुआ और जब बात अपने पसंद की टीम की हो तो मजा और भी दोगुना हो गया. अक्सर मैच में कुछ न कुछ नया देखने को मिलाता ही है. जिसे देखकर लोग हैरानी में आ जाते है. ऐसा ही कुछ इस मैच में देखने को मिला जिसे देखा कर मैच देख रहे खिलाड़ियों से लेकर फैंस तक के रौंगटे खड़े हो गए.  बताते चले क्रिकेट मैच में ऐसे कई बार देखा गया है  जिन्हें देख आप हैरान तक रह जाते हैं। डाइव लगाकर या फिर एक हाथ से कैच लपकना 30 गज के अंदर आम सा हो गया है लेकिन बाउंड्री पर छक्के के लिए जा रही गेंद को विकेट में तब्दील कर देना सबसे बड़ी बात होती है। आपने एबी डिवीलियर्स, ग्लेन मैक्सवेल के ऐसे कई कैच बाउंड्री पर देखे होंगे, लेकिन सैयद मुश्ताक अली टी20 ट्राॅफी में ऐसा कैच देखने को मिला जो अभी तक कई मशहूर फिल्डर भी नहीं कर सके।

इंदाैर स्टेडियम में महाराष्ट्र ने रेलवे के साथ बुधवार को मैच खेल

, जिसमें महाराष्ट्र ने 21 रनों से जीतकर टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई। लेकिन मैच के दाैरान राहुल त्रिपाठी और दिव्यांग हिमघाणेकर ने मिलकर ऐसा कैच लपका जो क्रिकेट इतिहास का सबसे खतरनाक कैच माना जा रहा है। दरअसल, रेलवे के लिए मनजीत सिंह ने 20वें ओवर की आखिरी गेंद पर स्टेट में बड़ा शाॅट खेला। गेंद छक्के के लिए जा रही थी लेकिन तभी राहुल त्रिपाठी ने भागते हुए जंप लगाकर गेंद को हवा में उठाल दिया। वहीं हिमघाणेकर ने गेंद को लपकते हुए मनदीप को पवेलियन भेज दिया।

MUST WATCH: A rally catch between Rahul Tripathi & Hinganekar that has got the cricketing world talking. Watch this, you…

Gepostet von Indian Cricket Team am Donnerstag, 14. März 2019

क्या रहा कैच में खास दरअसल, इस कैच में जो खास रहा वो था त्रिपाठी का गेंद को हवा में उछालने का तरीका। आपने आमताैर पर देखा होगा कि जब डीविलियर्स या फिर अन्य खिलाड़ी बाउंड्री पर गेंद को हवा में उछालते हैं तो आगे की तरफ गेंद को फेंकते हैं। लेकिन अगर आप ध्यान से वीडियो को देखेंगे तो त्रिपाठी गेंद को बहुत ही मुश्किल तरीके से गेंद को ग्राउंड के अंदर दूसरे खिलाड़ी के पास फेंकते हैं। वीडियो में आप देख सकते हैं कि त्रिपाठी जंग लगाकर गेंद लपकते हैं और उसी दाैरान अपने हाथ को पीछे की ओर मोड़ते हुए हिमघाणेकर के पास धकेलते हैं। इस अंदाज में कैच होना, क्रिकेट इतिहास में पहली बार देखने को मिला।

No comments:

Post a Comment