Tuesday, April 16, 2019

देखें, 2.5 लाख रुपये की धोखाधड़ी का शिकार हुआ दिल्ली का ये बिजनेसमैन…

आज एक बार फिर मै कुछ टेक्नोलॉजी से जुडी नयी पोस्ट की अपडेट लेकर आया हूँ, इस पोस्ट को अंत तक पढ़ते रहे ..

दिल्ली आधारित ये व्यापारी अपने ऑफिस के लिए फर्नीचर की खरीदारी कर रहा था. तभी अचानक एक बेहतरीन डील के चक्कर में व्यापारी सेलर की जाल में फंस गया. डील एक बार फाइनल होने पर बिजनेसमैन के पास एक मैसेज आया. टेक्स्ट मैसेज में Add UPI Money जैसे शब्द लिखे हुए थे.

आजकल के जमाने में सबसे बड़ा स्कैम ऑनलाइन स्कैम है. जहां आपके मोबाइल पर मैसेज भेज आपको फंसाकर पैसे हड़प लिए जाते हैं. धोखाधड़ी को देखते हुए RBI कई सारे गाइडलाइंस भी जारी कर चुका है. लेकिन इसके बावजूद दिल्ली का एक व्यापारी इससे बच नहीं पाया. व्यापारी के साथ एक अलगा तरह का धोखाधड़ी का मामला सामने आया है जहां आपके फोन पर मैसेज भेजकर आपको लाखों का चूना लगाया जा सकता है.

क्या था मामला

दिल्ली आधारित ये व्यापारी अपने ऑफिस के लिए फर्नीचर की खरीदारी कर रहा था. तभी अचानक एक बेहतरीन डील के चक्कर में व्यापारी सेलर की जाल में फंस गया. बता दें कि सेलर ने व्यापारी को ये जानकारी दी थी कि वो डिफेंस में रह चुका है. फ्रॉड करने वाले व्यक्ति ने बिजनेसमैन को बताया कि वो उन्हें प्रोडक्ट्स बेस्ट डील पर देगा. इसी को देखते हुए धोखा देने वाले व्यक्ति ने डील को पाने के लिए बिजनेसमैन को जल्द से जल्द पेमेंट करने को कहा.

डील एक बार फाइनल होने पर बिजनेसमैन के पास एक मैसेज आया. टेक्स्ट मैसेज में Add UPI Money जैसे शब्द लिखे हुए थे. वहीं पैसे को ट्रांस्फर और बेबसाइट से लिंक करने का ऑप्शन भी दिया गया था. इसके बाद जैसे ही बिजनेसमैन ने उस लिंक पर क्लिक किया तो धोखा देने वाले व्यक्ति ने बिजनेसमैन के फोन को अपने कंट्रोल में कर लिया. जो एक तरह से हैकिंग ही है. इसके बाद धोखा देने वाले व्यक्ति ने बिजनेसमैन के फोन से कई बैंक ट्रांजैक्शन किए.

बैंकिग ट्रांजैक्शन के अलावा धोखा देने वाले व्यक्ति ने बिजनेसमैन के फोटो और मैसेज पर भी काबू कर लिया था. पुलिस ने हालांकि इस लिंक को क्रैक कर लिया है. बता दें कि कोई भी डील ने से पहले उसे ठीक से जांच ले वहीं कि किसी भी लिंक पर ने के बाद क्या वो ऑफिशियल वेबसाइट पर लेकर जाता है. वहीं कभी भी एसएमएस के जरिए अगर कोई कंपनी प्रचार कर रही है तो उस लिंक पर कभी क्लिक न करें.

No comments:

Post a Comment