Wednesday, April 17, 2019

टिक टॉक ऐप पर भारत सरकार का फैसला, हटाने का दिया आदेश


भारत सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। भारत सरकार ने गूगल और एपल को अपने प्ले स्टोर से टिकटॉक ऐप को हटाने के लिए कहा है। सरकार के इस फैसले के बाद और लोग इस ऐप को डाउनलोड नहीं कर पाएंगे। लेकिन जिनके  पास ये ऐप पहले से है,  वो टिकटॉक का इस्तेमाल कर सकेंगे।

रिपोर्ट्स के मुताबिक,  भारत के इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने गूगल और एप्पल को अपने ऐप स्टोर्स से टिक टॉक ऐप को हटाने के लिए कहा है। मद्रास उच्च न्यायालय की मदुरै पीठ ने तीन अप्रैल को केंद्र को निर्देश दिया था कि मोबाइल ऐप्लीकेशन ‘टिक टॉक’ पर प्रतिबंध लगाए। हाईकोर्ट का तर्क था कि टिकटॉक ऐप से पोर्नोग्राफी को बढ़ावा मिलता है। टिक टॉक ने आदेश को भेदभावपूर्ण और मनमाना बताया है अपने बचाव में टिक टॉक का कहना है कि उसे ‘अश्लील और अनुचित सामग्री’ के लिए उत्तरदायी नहीं ठहराया जा सकता है। इस मामले पर मद्रास हाईकोर्ट 16 अप्रैल और सुप्रीम कोर्ट 22 अप्रैल को सुनवाई करेगा।

बता दें कि टिकटॉक ऐप को म्यूजिकली नाम से लॉन्च किया गया था, बाद में इसका नाम बदलकर टिकटॉक कर दिया गया। रिपोर्ट्स के माने तो 2019 के शुरुआती तीन महीनों में टिकटॉक पर 9 करोड़ नए भारतीय यूजर जुड़े हैं। वहीं ऐप को दुनियाभर में करीब 100 करोड़ से ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है।

आपको ये भी बता दें कि दिल्ली में टिक टॉक वीडियो बनाते समय एक लड़के की मौत हो गई। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक तीन दोस्त टिक टॉक वीडियो बना रहे थे, तभी उनमें से एक ने असली पिस्तौल निकाली। वीडियो बनाते समय पिस्तौल से गोली चल गई जोकि 19 वर्षीय लड़के को जाकर लगी।

Share this&#8230
Share on WhatsappWhatsappShare on FacebookFacebookTweet about this on TwitterTwitter आप इस बार के चुनाव में किसे वोट देंगे &#8211 अभी वोट करें

No comments:

Post a Comment