Friday, May 3, 2019

आसमान से बरस रहे शोले, धूप की तपन ने किया बेचैन

खोज खबर
जयपुर। बंगाल की खाड़ी में सक्रिय चक्रवाती तूफान फॉनी के असर से प्रदेश के बाशिंदों को अगले 24 घंटे में गर्मी के तीखे तेवरों से थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार चक्रवाती तूफान के असर से तेज रफ्तार से चलने वाली धूलभरी हवाएं बुधवार को प्रदेश के पश्चिमी इलाकों से होकर पूर्वी भाग की ओर बढ गई। जिसके कारण करीब 30 से 40 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से प्रदेश के कई इलाकों में संभावित अंधड़ दिन के तापमान में एक दो डिग्री तक गिरावट ला सकता है। वहीं पूर्वी राजस्थान में दिन के अलावा रात के तापमान में भी कमी आने की उम्मीद है।
बीते 24 घंटे में पश्चिमी राजस्थान भीषण लू की चपेट में है और दिन में पारा 44 डिग्री या उससे ज्यादा रेकॉर्ड हो रहा है। राजधानी जयपुर में बुधवार को दिन का तापमान 40.8 डिग्री रहा लेकिन फिर भी दिन में मानों आसमान से शोले बरसते महसूस हुए। शहर में बुधवार को रात के तापमान में पारा 2.6 डिग्री उछलकर 28.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड हुआ स्थानीय मौसम केंद्र के अनुसार शहर में आज धूलभरी हवाएं चलने और मौसम शुष्क रहने की संभावना है। बुधवार सुबह प्रदेश के अधिकांश इलाकों के न्यूनतम तापमान में उतार चढ़ाव रहा । पश्चिमी मैदानी इलाकों में फलोदी 30, बाड़मेर 30.5, डबोक 29.2, श्रीगंगानगर 28.9,जैसलमेर 28, कोटा 28.7, अजमेर 28.9, बीकानेर 27.7, चूरू 26.4, और जोधपुर में रात में पारा 27.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ। शेखावाटी अंचल के सीकर में 25.5 और पिलानी में रात का तापमान 23.9 डिग्री रहा वहीं माउंट आबू 21 और भीलवाड़ा में बीती रात पारा 21.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज हुआ है।
वहीं बुधवार शाम पश्चिमी राजस्थान में चली धूलभरी हवा के कारण ज्यादातर इलाकों में दिन के तापमान में एक दो डिग्री तक गिरावट दर्ज हुई। अधिकांश जिलों में बुधवार का अधिकतम तापमान 42 डिग्री व उससे कम रिकॉर्ड हुआ है। बाड़मेर 42.2,चूरू 42.4 और श्रीगंगानगर में अधिकतम तापमान 42 डिग्री रहा। जबकि अन्य जिलों में दिन का तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से कम दर्ज किया गया। पारे में कमी आने के बावजूद प्रदेश में झुलसाती गर्मी का असर बरकरार रहा है।

Web Title : weather in rajasthan gujrat madhyapradesh cyclone faani effect in rajasthan
घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

No comments:

Post a Comment