Friday, May 3, 2019

दूसरे चरण का मतदान चुनाव आयोग के लिए चुनौती

खोज खबर
जयपुर
। प्रदेश में 6 मई को दूसरे चरण के तहत 13 लोकसभा सीटों पर मतदान होना है। इन 13 लोकसभा सीटों में सीकर और नागौर लोकसभा क्षेत्रों को निर्वाचन विभाग ने अतिसंवेदनशील माना है। लिहाजा यहां जितने अर्धसैनिक बल केन्द्र की कंपनियां केन्द्र से मिली हैं उनमें से 55 फीसदी कंपनियां इन दो लोगसभा क्षेत्रों में तैनात करने की तैयारी निर्वाचन विभाग ने की है। इसके साथ ही भरतपुर,अलवर,करौलीधौलपुर और दौसा भी संवेदनशील मतदान केन्द्रों में शामिल हैं और यहां भी संवेदनशील मतदान केन्द्रों पर सुरक्षा चाकचौबंद करने की योजना बनाई गई है।
निर्वाचन विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कई बार प्रत्याशी और क्षेत्र के ताजा राजनीतिक घटनाक्रमों को देखते हुए भी मतदान केन्द्रों को संवेदनशील और अतिसंवेदनशील मतदान केन्द्रों की श्रणी में रखा जाता है। चूंकि नागौर से इस बार हनुमान बेनीवाल और कांग्रेस से ज्याति मिर्धा प्रत्याशी है। ऐसे में समर्थक कहीं अति उत्साह में बूथ केप्चरिंग,मतदाताओं को मतदान  से रोकने जैसी कोशिश न कर बैठें लिहाजा समूचे नागौर लोकसभा क्षेत्र को अतिसंवेशनशील माना गया है।
इसी प्रकार सीकर लोकसभा क्षेत्र भी इस बार अतिसंवेदनशील लोकसभा क्षेत्र है। क्योंकि सीकर में हाल ही में एक समाज के युवक के द्वारा नवविवाहिता को डोली में जाते समय अपहरण करने का मामला गमार्या था और जाट समाज ने सीकर में उग्र प्रदर्शन किया था। लिहाजा इंटेलीजेंस की रिपोर्ट के आधार पर इस लोकसभा क्षेत्र को अति संवेदनशील माना गया है।
चूंकि अर्ध सैनिक बलों की तैनाती मतदान के दौरान बूथ कैप्चरिंग, हिंसक घटनाओं को रोकने के लिए की जाती है। लेकिन बीते चुनावों के अनुभव में निर्वाचन विभाग ने देखा है कि राजस्थान में बूथ कैपचरिंग और पुर्नमतदान जैसी घटनाएं न के बराबर है। ऐसे में ताजा घटनाक्रमों को देखते हुए ही अर्धसैनिक बलों की तैनाती लोकसभा क्षेत्रों में की जा रही है।
इसके साथ ही भरतपुर,अलवर,करौलीधौलपुर और दौसा भी संवेदनशील लोकसभा क्षेत्रों में है। भरतपुर के डीग और कामा क्षेत्र के मतदान केन्द्र अति संवेदनशील है। इन लोकसभा क्षेत्रों में अर्धसैनिक बलों की तैनाती स्थानीय इंटेलीजेंस के अधार पर की जा रही है।
इस बार प्रदेश में दोनों चरणो के चुनाव के लिए अर्धसैनिक बलों की 140 कंपनियां मिली है। 2014   के लोकसभा चुनाव में पहले चरण मे 20 लोकसभा क्षेत्र और दूसरे चरण में 5 लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव हुए थे। इस बार दोनों चरणों में 1312 लोकसभा क्षेत्रों में चुनाव कराना तय हुआ है। ऐसे में इन कंपनियों में से बराबर और परिस्थतियों के हिसाब से अर्धसैनिक बलों को तैनात किया जा रहा है।
घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

No comments:

Post a Comment