Friday, May 3, 2019

Indian Railways : ट्रेन हॉर्न के पीछे होतें हैं कई तरह के संदेश, जानें

Indian Railways के बारें में अपने काफी कुछ सुना होगा। ट्रेन में सफर भी किया होगा। अपने रिश्तेदारों या घरवालों को रेलवे स्टेशन छोड़ने भी गए होंगे, इस दौरान आपने ट्रेन के हॉर्न को भी सुना होगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ट्रेन हॉर्न के पीछे भी कई तरह के संदेश होते हैं।

आप लोगों ने रेलवे क्रॉसिंग के पास या स्टेशनों जैसे कई अन्य स्थानों पर कई बार ट्रेन हॉर्न बजाते हुए गाड़ियों को सुना होगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि इन हॉर्न का अर्थ क्या है। अगर आपने कभी इस बारे में नहीं सोचा है, तो थोड़ा ध्यान दीजिये, कहीं आपको सारे हॉर्न एक जैसे ही तो सुनाई नहीं देते, अगर ऐसा है तो अपने कभी हॉर्न को सही से सुना ही नहीं है। आज हम आपको हॉर्न के बारे में बताने जा रहे हैं क्योंकि इसके कई तरह के अर्थ होते हैं।

मूल रूप से, भारतीय रेलवे में नौ प्रकार की अलग-अलग हॉर्न की शैलियां थीं जिनके पीछे कुछ विशेष प्रकार के संदेश और अर्थ होते हैं।

  • एक शॉर्ट हॉर्न : इसका मतलब है कि ट्रेन यार्ड में आ गई है और इसे साफ करने का समय हो गया है।
  • दो शॉर्ट हॉर्न्स : इसका मतलब है कि ट्रेन चलने के लिए तैयार है।
  • तीन शॉर्ट हॉर्न : इसका मतलब है कि लोको पायलट ने इंजन पर नियंत्रण खो दिया है।

Indian Railways : जानें, ट्रेन हॉर्न के पीछे होतें हैं कई तरह के संदेश !

इंडियन रेलवे ट्रेन के हॉर्न के पीछे होते हैं अलग-अलग संदेश :

  • चार छोटे हॉर्न : इसका मतलब है कि ट्रेन में कुछ तकनीकी खराबी है और यह आगे नहीं बढ़ सकती है।
  • दो शॉर्ट और एक लॉन्ग हॉर्न्स : इस तरह के हॉर्न का उपयोग दो स्थितियों में किया जाता है, जैसे किसी ने ट्रेन की चेन खींची हो या गार्ड ने वैक्यूम प्रेशर ब्रेक लगाया हो।
  • हॉर्न को लंबे समय तक जारी रखना : यदि ट्रेन लगातार हॉर्न बजा रही है, तो इसका मतलब है कि यह प्लेटफॉर्म पर नहीं रुकेगी।
  • दो-स्ट्रोक हॉर्न : यह हॉर्न तब बजाया जाता है जब ट्रेन रेलवे क्रॉसिंग के करीब होती है।
  • दो लंबे और एक छोटा हॉर्न : इस प्रकार का हॉर्न तब बजाया जाता है जब ट्रेन अपना ट्रैक बदलती है।
  • छह बार बजाय जाने वाला छोटा हॉर्न : यह हॉर्न तब बजाया जाता है जब लोको पायलट को किसी भी तरह के खतरे का अंदाजा हो जाता है।

Indian Railways के बारें में अपने काफी कुछ सुना होगा। ट्रेन में सफर भी किया होगा। अपने रिश्तेदारों या घरवालों को रेलवे स्टेशन छोड़ने भी गए होंगे, इस दौरान आपने…

ओडिशा की तरफ बढ़ रहा चक्रवाती तूफान ‘फानी’ दस्तक दे चुका है। ओडिशा के तट से फानी की टक्कर के साथ ही तेज़ हवाओं के साथ बारिश भी शुरू हो…

किस करने के दौरान हमारे शरीर में ऑक्सिटॉसिन नाम का हॉर्मोन बनता है जो पार्टनर के साथ आपकी बॉन्डिंग बढ़ाने में मददगार साबित होता है। हालांकि पार्टनर को किस करने…

No comments:

Post a Comment