Friday, May 17, 2019

Lok Sabha Election 2019 : जानें, रिजल्ट के लिए क्यों करना पड़ सकता है इंतज़ार !

Lok Sabha Election 2019 के अंतिम चरण का चुनाव 19 मई को समाप्त हो जायेगा। वहीं EC इस बार मतगणना के लिए खास सतर्कता बरतने वाला। जिसके चलते EVM के वोट और वीवीपीएटी (वोटर वेरिफिकेशन पेपर ऑडिट ट्रेल) के पर्चियों की गिनती भी दो अलग-अलग टीम करेगी। जिससे किसी भी तरह की गड़बड़ी न हो सके। माना जा रहा है कि इस वजह से चुनाव परिणाम के लिए लंबा इंतजार करना पड़ सकता है।

हर बार ऐसा सुनने में आता है कि EVM में गड़बड़ी थी या मतदान में बेईमानी हुई है। इस तरह के सवालों से बचने के लिए इस बार EC सतर्कता बरत रहा है। जिसके चलते मतगणना स्थल पर चुनाव अधिकारी वाई-फाई के माध्यम से इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। दिल्ली में सात लोकसभा सीटों के लिए कुल सात मतगणना स्थल उसी लोकसभा क्षेत्र में बनाए गए हैं।

बता दें कि मतदान के बाद स्ट्रांग रूम में बंद EVM की त्रिस्तरीय सुरक्षा में रखा गया है। वहीं पूरा परिसर सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में है। चुनाव अधिकारी आधिकारिक कामों के लिए जो भी इंटरनेट सेवा लेंगे, उसके लिए वह वाई-फाई कनेक्शन इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे। उन्हें तार के जरिए इंटरनेट कनेक्शन लेना होगा। EVM में मतों की गणना करने वाली टीम भी अलग होगी। साथ ही मिलान के लिए वीवीपीएटी से पर्चिंयों की गिनती करने वाली टीम भी अलग होगी। चुनाव अधिकारियों ने कहा कि मतगणना के दौरान अगर एक पोलिंग स्टेशन के EVM में पड़े वोट और वीवीपीएटी में मिली पर्चिंयों की संख्या से मिलान नहीं होता है तो घबराने की जरूरत नहीं है। मतगणना कर्मियों को बताया गया है कि उन्हें पहले मतों के अंतर का पता लगाना है। क्योंकि मतदान से पहले हमेशा EVM की जांच के लिए पीठासीन अधिकारी मॉक पोल करते है। मॉक पोल के तौर पर 50 वोट डाले जाते हैं। उस दौरान भी EVM में वोटों की गिनती होती है।

19 मई को सातवें और अंतिम चरण के मतदान होने हैं। बताया गया है कि 23 मई को चुनाव के नतीजे आएंगें।लेकिन अब ऐसा माना जा रहा है कि अंतिम परिणामों के आने में देरी भी हो सकती है। दिल्ली की सात लोकसभा सीट से प्रत्येक लोकसभा के 50 पोलिंग स्टेशनों के वीवीपीएटी के पर्चियों का मिलान EVM में पड़े वोटों से किया जाएगा। बता दें कि दिल्ली में लोकसभा की सात सीट हैं। एक लोकसभा में 10 विधानसभा सीट हैं। हर विधानसभा से 5 पोलिंग स्टेशन के वीवीपीएटी की पर्चियों का मिलान वहां EVM में पड़े वोट से किया जाएगा। वहीं पूरी दिल्ली में कुल 350 पोलिंग स्टेशन के वीवीपीएटी की पर्चिंयों की गिनती होगी। जिस वजह से ऐसा माना जा रहा है कि परिणामों के आने में देरी भी हो सकती है।

    फिल्म भारत के प्रमोशन के लिए इंडियन प्रिमियर लीग के फाइनल मैच के बीच होस्टिंग करते दिखाई देंगे सलमान और कैटरीना। सलमान की मोस्ट अवेटेड फिल्म (Bharat) ईद के मौके…

    No comments:

    Post a Comment