Tuesday, August 20, 2019

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 11 साल, कोहली ने लिखा इमोशनल पोस्ट

नई दिल्ली (19 अगस्त): भारतीय कप्तान विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 11 साल पूरे कर लिए हैं। विराट कोहली इस समय वेस्टइंडीज में हैं। इइंटरनेशनल क्रिकेट में 11 साल पूरे होने पर विराट कोहली ने सोशल मीडिया पर एक इमोशनल पोस्ट लिखा है। कोहली ने &#8216ट्विटर पर लिखा, &#8216इसी दिन 2008 में मैंने एक युवा खिलाड़ी की तरह शुरुआत की थी, तब से लेकर अब तक के 11 साल के सफर पर भगवान ने जो कुछ मुझे दिया है, मैं उसके बारे में सपने में भी नहीं सोच सकता था।&#8217 उन्होंने लिखा, &#8216भगवान आपको भी अपने सपनों को हासिल करने और सही रास्ता चुनने की ताकत दे।&#8217 कोहली ने 18 अगस्त 2008 को श्रीलंका के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था।

इस मैच में कोहली कुछ खास नहीं कर पाए थे। लेकिन आज कोहली दुनिया के महान बल्लेबाज हैं। अपने डेब्यू मैच में कोहली ने 12 रनों की पारी खेली थी। तब उन्होंने गौतम गंभीर के साथ पारी का आगाज किया था। वह मैच भारत आठ विकेट से हार गया था। टीम इंडिया की बल्लेबाजी फ्लॉप रही थी। भारत की ओर से युवराज सिंह ने सबसे ज्यादा 23 रनों की पारी खेली थी और पूरी टीम इंडिया 146 रनों पर सिमट गई थी। कोहली ने इस मैच में टीम इंडिया की ओर से पहली बाउंड्री लगाई थी और वह भी चामिंडा वास की गेंद पर। कोहली 22 गेंद पर 12 रन बनाकर नुवान कुलसेकरा की गेंद पर एलबीडब्ल्यू हुए थे। विराट अपने 14वें वनडे पहला शतक लगाने में कामयाब रहे, जब उन्होंने 2009 में श्रीलंका के खिलाफ कोलकाता में यह शतकीय पारी खेली। हालंकि इस मैच से पहले नागपुर में वह अपनी पहली फिफ्टी (54 रन) लगा चुके थे।

कोहली के करियर का टर्निंग प्वाइंट साल 2011-12 को माना जाता है। ऑस्टॅलिया दौरे पर गई भारतीए टीम टेस्ट सीरीज बुरुी तरह से हार गई। लेकिन विराट कोहली इस दौरे पर भारत के लिए सबसे अधिक रन बनाए। एडिलेड में खेले गए आखिरी टेस्ट में कोहली ने शतक बनाया। पारी खेली। जबिक पर्थ में खेले गए तीसरे टेस्ट में कोहली ने 44 और 75 रनों की पारियां खेली थीं। इन पारियों के सहारे विराट ने ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ियों की नजरों अलग जगह बना ली थी।

इसी दौरे पर वनडे ट्राई सीरीज में विराट कोहली ने श्रीलंका के खिलाफ शानदार शतक बना कर सनसनी मचा दी यह शतक कई मायनों में बड़ी थी। भारत को 321 रन बनाने थे और वह भी 40 ओवरों में अगर भारत 40 ओवरों में यह टारगेट नहीं हासिल करता तो फाइनल की रेस से बाहर हो जाता। भारत ने विराट के 86 गेंदों में 133 रनों की नाबाद पारी की बदौलत 37 ओवरों में ही 321 रन का लक्ष्य हासिल कर लिया। और सबसे बढ़कर टीम इंडिया ने फाइनल में ऑस्ट्रेलिया से भिड़ने के लिए अपना स्थान पर सुरक्षित कर लिया।

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

No comments:

Post a Comment