Tuesday, August 20, 2019

‘बिना बताये जाने पर साक्षी ने अपनी गलती मानी, माफी मांगने पर हुई वापसी’

नई दिल्ली (19 अगस्त): &#8216&#8230 बिना बताये जाने वाली साक्षी ने अपनी गलती मान ली है उन्होंने इस गलती के लिए माफी मांग भी ली है। इस माफी के बाद उन्हें लखनऊ कैंप में वापस भर्ती कर लिया गया है।&#8217 आप लोग भ्रमित न हों, यहां पर जिस साक्षी का जिक्र किया जा रहा है वो भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक है। कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) की ओर से मिले कारण बताओ नोटिस का जवाब देने के बाद ओलिंपिक पदक विजेता भारतीय महिला पहलवान साक्षी मलिक को लखनऊ स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) में जारी राष्ट्रीय कैंप में फिर से शामिल कर लिया गया है। साक्षी पर अनुशासन तोड़ने का आरोप था और इसके लिए डब्ल्यूएफआई ने उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था।साक्षी के साथ साथ सीमा बिसला (50 किलो भारवर्ग), किरण (76 किलो भारवर्ग) उन तीन पहलवानों में शामिल हैं, जिन्हें डब्ल्यूएफआई ने राष्ट्रीय कैम्प से निलंबित कर दिया था। ये तीनों पहलवान आगामी विश्व चैंपियनशिप के लिए पहले ही क्वॉलिफाइ कर चुकी हैं। डब्ल्यूएफआई के सह सचिव विनोद तोमर ने सोमवार को कहा कि ये तीनों पहलवान रक्षाबंधन त्योहार के अवसर पर अपने-अपने घर गई थीं।तोमर ने कहा, ‘साक्षी ने बताया कि वह त्योहार के लिए घर गई थीं। उन्होंने अपनी गलती स्वीकार कर ली है और कहा है कि उन्हें इसके लिए इजाजत लेनी चाहिए थी। सीमा और किरण ने भी यही वजह बताई है। उन्होंने कारण बताओ नोटिस का जवाब दे दिया है और माफी मांग ली है। इसलिए अब वे दोबारा से कैम्प में हैं।’लखनऊ के भारतीय खेल प्राधिकरण स्थित नेशनल कैम्प से 45 में से 25 खिलाड़ी बिना इजाजत लिए ही वहां से चली गई। गौरहाजिर होने की वजह से के बारे में पता नहीं होने के बाद इन सभी को निलंबित कर दिया गया। तोमर ने कहा कि सभी पहलवानों ने फेडरेशन को अपना जवाब दे दिया है और अब उनसे कहा गया है कि वे फिर से कैम्प में शामिल हो सकती हैं।Images Courtesy:Google

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

No comments:

Post a Comment