Monday, August 12, 2019

केंद्र का एजेंडा मात्र राजनीति तक : ममता

भारत सरकार के मंत्रालय की रिपोर्ट को बनाया हथियार

-कहा, नई परियोजनाओं में निवेश 15 साल के निचले स्तर पर

कोलकाता : भारत सरकार के द मिनिस्ट्री ऑफ स्टैटिस्टिकल्स एंड इंप्लीमेंटेशन की रिपोर्ट को हथियार बनाते हुए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर जोरदार हमला बोला है। रविवार को सोशल मीडिया फेसबुक के जरिए केंद्र सरकार पर तीखा हमला हमला करते हुए ममता ने कहा कि केंद्र सरकार का एजेंडा अब केवल राजनीति तक ही सीमित रह गया है। उन्होंने केंद्र से अपील की कि वह देश की सही आर्थिक स्थिति व अन्य हालात के बारे में लोगों को अवगत कराए। मुख्यमंत्री ने 3 दर्जन से अधिक सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रमों में विनिवेश के केंद्र के कदम की भी कड़ी आलोचना की। उन्होंने कहा कि यह चौंकाने के साथ ही चिंता का भी विषय है कि जून 2019 में समाप्त अंतिम तिमाही में नई परियोजनाओं में निवेश पिछले 15 साल के निचले स्तर पर पहुंच गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जून 2019 तिमाही में घोषित नई परियोजनाएं मार्च 2019 में घोषित नई परियोजाओं की तुलना में 81 फीसदी कम है। यह एक साल पहले इसी अवधि की तुलना में 87 फीसदी कम है। उन्होंने कहा कि देश का हर कोई यह देख व समझ सकता है कि अभी हमारा देश कहां है? देश के लोगों को सही स्थिति के बारे में जानकारी होनी चाहिए। लेकिन देखा जा रहा है कि केंद्र सरकार का एजेंडा अर्थव्यवस्था व विकास से भटक कर केवल राजनीति तक ही सीमित हो कर रह गया है। उन्होंने बीएसएनएल, ऑर्डिनेंस फैक्ट्री बोर्ड, रेलवे सहित कई सार्वजनिक उपक्रमों में विनिवेश का भी विरोध किया। उन्होंने कहा कि इससे देश में कई लाख लोग बेरोजगारी के शिकार होंगे। हाल ही में परिवहन क्षेत्र में लोगों के नौकरी खोने(छंटनी) की घटना पर चिंता जताते हुए ममता ने कहा कि यह दुर्भाग्यजनक है। उन्होंने कहा कि भाजपा के दूसरी बार सत्ता में आने के बाद ऐसा हुआ है। ममता ने कहा कि भाजपा अधिक से अधिक लोगों को रोजगार देने के मुद्दे पर दोबारा सत्ता में आई। लेकिन हम क्या देख रहे हैं? हम देख रहे हैं कि जो पहले नौकरी करते थे, आज वे ही नौकरी खो रहे हैं। मुख्यमंत्री ने पश्चिम बंगाल के जीडीपी दर का हवाला देते हुए कहा कि 12.58 फीसदी के साथ राज्य देश में पहले स्थान पर है। हम देश में छाई मंदी एवं केंद्र की बेकार नीतियों के विपरीत आगे बढ़ रहे हैं। देश में बेरोजगारी 45 साल के सवोच्च स्तर पर है। वहीं, मुख्यमंत्री ने ट्वीटर पर जीडीपी दर में देश में शीर्ष रहने पर राज्य के लोगों को बधाई दी। मालूम हो कि भारत सरकार के द मिनिस्ट्री ऑफ स्टैटिस्टिकल्स एंड इंप्लीमेंटेशन की 2018-19 रिपोट की रिपोर्ट के अनुसार बंगाल प्रथम, आंध्र प्रदेश दूसरे तथा बिहार तीसरे स्थान पर है जबकि भाजपा शासित गोवा 0.47 फीसदी के विकास दर के साथ 20 राज्यों में सबसे निचले स्तर पर है। पहले 10 स्थानों में भाजपा शासित राज्य हरियाणा है जो 9वें स्थान पर है। कर्नाटक 5वें स्थान पर है लेकिन कुछ पहले तक वहां कांग्रेस-जेडीएस की सरकार थी।

No comments:

Post a Comment