Saturday, August 17, 2019

जानिए किन कारणों से शास्त्री को फिर चुना गया विराट एंड टीम का हेड कोच !

Image result for जानिए किन कारणों से शास्त्री को फिर चुना गया विराट कोहली एंड टीम का हेड कोच!

भारतीय क्रिकेट टीम के अगले कोच को लेकर चल रहा संशय अब समाप्त हो गया है। रवि शास्त्री 2021 में होने वाले टी20 विश्व कप तक कोच पद पर बने रहेंगे। शुक्रवार को कपिल देव, अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहाकार समिति (सीएसी) ने छह उम्मीदवारों का साक्षात्कार लेने के बाद एक प्रेस कान्फ्रेंस में उक्त जानकारी दी।

कपिल देव ने कहा, ‘हम तीनों (कपिल, अंशुमन, शांता ) ने सर्वसम्मति से फैसला किया है कि रवि शास्त्री भारतीय टीम के मुख्य कोच पद पर बने रहेंगे.’ शास्त्री ने इस रेस में ऑस्ट्रेलिया के टॉम मुडी और न्यूजीलैंड के माइक हेसन को पीछे किया है। कपिल ने कहा, ‘तीनों के बीच जबरदस्त प्रतिस्पर्धा थी और शास्त्री काफी करीबी अंकों से आगे रहे। हमने चुनाव करते हुए कोचिंग स्किल्स, उनके अनुभव, खेल की जानकारी, उपलब्धियां और जो भी हमें पैरामीटर दिए गए थे उनको ध्यान में रखा. हमने उनके प्रेजेंटेशन को ध्यान से सुना और उनको सुनने के बाद उनको अंक दिए।’

कपिल ने हालांकि इस बात से साफ मना कर दिया कि इस मसले पर कोहली से राय ली गई है। पूर्व कप्तान ने कहा, ‘कोहली से हमने राय नहीं ली. अगर हम उनकी राय लेते तो हम पूरी टीम की भी राय लेते।’

बता दें कि भारतीय टीम के कोचिंग स्टाफ का करार विश्व कप के बाद खत्म हो गया था, लेकिन उन्हें 45 दिनों का विस्तार दिया गया, जो इंडीज दौरे तक जारी रहेगा।

कोच रवि शास्‍त्री की कोचिंग में भारतीय टीम का प्रदर्शन पिछले दो सालों के दौरान शानदार रहा है। टीम 70 प्रतिशत अंतरराष्ट्रीय मैचों में सफलता हासिल करने में कामयाब रही है। इस दौरान टीम ने दो बार एशिया कप पर कब्जा भी जमाया। वहीं ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीत जैसी उपलब्धियां भी शास्त्री के टीम में रहते हुए भारत ने हासिल की.

आपको बताते हैं इसकी 5 वजह.

1. विराट कोहली का समर्थन- रवि शास्त्री के हेड कोच पद पर बरकरार रहने की सबसे बड़ी वजह विराट कोहली का समर्थन रहा. विराट कोहली ने वेस्टइंडीज रवाना होने से पहले रवि शास्त्री के समर्थन में बयान दिया था. विराट ने कहा था कि टीम इंडिया के सभी खिलाड़ी रवि शास्त्री को कोच बनाए रखने के पक्ष में हैं.

2. ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक सीरीज जीत- रवि शास्त्री की कोचिंग में ही टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में ऐतिहासिक टेस्ट सीरीज जीती. भारत ने ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 2-1 से सीरीज अपने नाम की थी.

3. शानदार टेस्ट रिकॉर्ड- रवि शास्त्री की कोचिंग में टीम इंडिया का टेस्ट रिकॉर्ड जबर्दस्त रहा. भारत ने 21 में से 11 टेस्ट जीते. 7 मैच में भारतीय टीम को हार मिली और 3 मैच ड्रॉ रहे.

4. वनडे में भी बेहतरीन रिकॉर्ड- रवि शास्त्री के कोच रहते भारतीय टीम ने 63 में से 45 मैच जीते और महज 15 में उसे हार मिली. वनडे में भारत का जीत प्रतिशत 71.4 फीसदी रहा.

5. अंशुमन गायकवाड़ का समर्थन- क्रिकेट एडवाइजरी कमेटी के सदस्य अंशुमन गायकवाड़ ने भी रवि शास्त्री का खुले तौर पर समर्थन किया था. अंशुमन ने रवि शास्त्री को चुनने के बाद बयान दिया कि वो टीम को जानते हैं, हर खिलाड़ी को जानते हैं, भारतीय क्रिकेट टीम के सिस्टम को जानते हैं. जबकि दूसरे दावेदारों को एक नई शुरुआत नहीं करनी पड़ती

टीम इंडिया के कोच के लिए ये थे रेस में

– रवि शास्त्री (उम्र 57; 80 टेस्ट, 150 वनडे इंटरनेशनल)

– माइक हेसन (उम्र 44; खिलाड़ी के तौर पर कोई अनुभव नहीं)

– टॉम मुडी (उम्र 53; 8 टेस्ट, 76 वनडे इंटरनेशनल)

– लाल चंद राजपूत (उम्र 57; दो टेस्ट, 4 वनडे इंटरनेशनल)

– रॉबिन सिंह (उम्र 55; 1 टेस्ट, 136 वनडे इंटरनेशनल)

– फिल सिमंस (उम्र 56; 26 टेस्ट, 143 वनडे इंटरनेशनल)

No comments:

Post a Comment