Saturday, September 14, 2019

‘रोहित शर्मा टेस्ट में सफल हुए तो ठीक’, वर्ना…

नई दिल्ली(13 सितंबर): रोहित शर्मा को आखिर कर भारतीय  टेस्ट टीम ओपनर के तौर पर सलेक्ट कर लिया गया है। शानदार फॉर्म में चल रहे रोहित के लिए टेस्ट टीम में जगह बनाने का यह आखिरी मौका है। वर्ल्ड कप में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले रोहित शर्मा अगर अपने फॉर्म को बरकरार रखते हैं तो भारत के लिए समस्या बनी ओपनिंग की समस्या भी खत्म हो जाएगा। रोहित को लगातार असफल हो रहे के. एल. राहुल की जगह टीम में शामिल किया गया।

वनडे क्रिकेट के धाकड़ बल्लेबाज रोहित टेस्ट क्रिकेट में अब तक असफल रहे हैं। ऐसे में रोहित के सामने टेस्ट क्रिकेट में नई शुरुआत करने का मौका है। हालांकि टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर  ने टेस्ट क्रिकेट में रोहित शर्मा के प्रदर्शन पर बड़ा बयान दिया है। टीम इंडिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर  ने कहा है कि इस बात में कोई संदेह नहीं हैं कि रोहित शर्मा  सीमित ओवर प्रारूप के बेहद खतरनाक खिलाड़ी हैं, लेकिन हमें यह स्वीकार करना होगा कि दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट सीरीज उनके लिए करो या मरो की स्थिति होगी। गंभीर ने कहा कि अगर रोहित शर्मा टेस्ट क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करते हैं तो उनके लिए पूरी दुनिया है, लेकिन अगर वे ऐसा नहीं कर पाते हैं तो फिर ओपनिंग के लिए किसी और बल्लेबाज को आजमाने का वक्त आ जाएगा। गौतम गंभीर ने कहा कि घरेलू सीरीज के लिए मैं रोहित शर्मा को ओपनिंग करते हुए देखना चाहता और बैकअप के तौर पर एक युवा खिलाड़ी को रखता।

गंभीर ने कहा कि मैं ऐसा नहीं करता कि रोहित को टीम में चुन लिया जाए और उन्हें बैंच पर बैठाए रखा जाए। अगर उन्हें टीम में चुना गया है तो फिर उनसे ओपनिंग कराई जानी चाहिए। मैंने हमेशा कहा है कि ये खिलाड़ी बैंच पर बैठाए रखने के लिए नहीं है। अगर उनके लिए मध्यक्रम में कोई जगह नहीं है तो फिर उन्हें ओपनर के तौर पर ही खिलाना चाहिए। गौतम गंभीर ने खुलासा करते हुए कहा कि आईपीएल के दौरान रोहित शर्मा और एबी डीविलियर्स ने मेरी रातों की नींद उड़ा दी थी। आईपीएल टीम कोलकाता नाइटराइडर्स के कप्तान रहे गंभीर ने कहा कि रोहित सीमित ओवर प्रारूप के विध्वंसक बल्लेबाजों में से एक हैं। बतौर कप्तान रोहित और दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज एबी डीविलियर्स ने मेरी रातों की नींद उड़ा दी थी। अन्य कोई बल्लेबाज ऐसा नहीं कर पाया।

रोहित शर्मा ने अपने छह साल के टेस्ट करियर में महज 27 ही मैच खेले हैं। इस दौरान उन्होंने 39.62 की औसत से 1585 रन बनाए हैं। इस प्रारूप में उनके नाम तीन शतक हैं, जिनमें से दो शतक उन्होंने 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ अपनी डेब्यू सीरीज में लगाए थे।

घर बैठे फ्री में पैसे कमाने के लिए अभी देख &#8211 यहाँ कमाये

No comments:

Post a Comment