Monday, September 30, 2019

बिहार: उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी भी अपने घर में फंसे, एनडीआरएफ ने किया रेस्क्यू

फिर भारी बारिश का अलर्ट

पटना : बिहार में बारिश और बाढ़ से आम ही नहीं खास लोग भी प्रभावित हुए हैं। हालात इतने बिगड़ गए कि पटना के राजेंद्र नगर स्थित घर में फंसे प्रदेश के डेप्युटी सीएम सुशील मोदी को बचाने के लिए बचाव दल को आना पड़ा। डेप्युटी सीएम के घर के चारों तरफ पानी ही पानी था। तीन दिन बाद भी राहत न मिलती देख प्रशासन ने एनडीआरएफ की टीम को अलर्ट किया और सोमवार दोपहर करीब 2 बजे उन्हें नाव से रेस्क्यू किया गया। बता दें कि पिछले पांच दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से बिहार में जिंदगी पूरी तरह ठप है। बारिश से जुड़े हादसों में मरने वालों की संख्या 29 तक पहुंच गई है। इस बीच, मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के दौरान पटना सहित राज्य के अन्य जिलों में फिर भारी बारिश की चेतावनी देते हुए अलर्ट जारी किया है।

लोकगायिका शारदा सिन्हा को भी किया रेस्क्यू
उधर, बिहार की नामचीन लोकगायिका शारदा सिन्हा भी अपने घर में फंस गई थीं। बाद में कड़ी मशक्कत के बाद बचाव दल ने उन्हें घर से बाहर निकाला। पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित सिन्हा ने सोशल मीडिया के जरिए मदद की गुहार लगाई थी। सिन्हा ने अपने फेसबुक अकाउंट पर लिखा था, ‘राजेंद्र नगर स्थित अपने घर में पानी में फंसी हुई हूं। मदद नहीं मिल पा रही है। एनडीआरएफ की टीम तक भी पहुंचना असंभव है। पानी से गंध आ रही है। काश, भारत में एयरलिफ्ट की सुविधा होती। कोई रास्ता है तो बताएं।’

घर से बमुश्किल निकलने के बाद शारदा सिन्हा ने कहा, ‘मैं और मेरे पति दोनों फंस गए थे। ग्राउंड फ्लोर पर तो छाती भर पानी आ गया था। यदि हम नीचे उतरते तो डूब ही जाते। दुख की बात यह है कि फेसबुक पर पोस्ट करने के बाद भी काफी देर तक प्रशासन की तरफ से कोई मदद नहीं मिली। मैं इतने दिनों से पटना में रह रही हूं, आजतक कभी इतना पानी नहीं देखा।’

बारिश पर राजनीति, नीतीश सरकार पर तेजस्वी का तंज
उधर, बिहार में बारिश से मचे हाहाकर के बीच राजनीति भी शुरू हो गई है। एक तरफ जहां बीजेपी विधायक ने प्रशासन पर सहयोग नहीं करने का आरोप लगाया है। वहीं, लालू यादव के बेटे और सूबे के पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बारिश के बहाने नीतीश कुमार पर तंज कसा है। हालांकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अपने कार्यकर्ताओं से राहत और बचाव कार्य में जुटने की अपील की है।

No comments:

Post a Comment