Tuesday, October 15, 2019

नेशनल ब्लाइंडनेस एंड विज़ुअल इम्पेयरमेंट सर्वे 2019

नेशनल ब्लाइंडनेस एंड विज़ुअल इम्पेयरमेंट सर्वे 2019 केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री और परिवार कल्याण के 13 वें सम्मेलन में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ। हर्षवर्धन द्वारा राष्ट्रीय दृष्टिहीनता और दृश्य हानि सर्वेक्षण जारी किया गया था। सर्वेक्षण एम्स, दिल्ली और केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा आयोजित किया गया था। रिपोर्ट 10 अक्टूबर, 2019 को जारी की गई थी। सर्वेक्षण 2015 और 2019 के बीच आयोजित किया गया था।

भारत 1976 में ब्लाइंडनेस नियंत्रण के लिए राष्ट्रीय कार्यक्रम शुरू करने वाला पहला देश है। कार्यक्रम का उद्देश्य वर्तमान में 2020 तक अंधापन के प्रसार को 0.3% तक कम करना है।

रिपोर्ट के मुख्य निष्कर्ष

  • 50 वर्ष से ऊपर के लोगों में मोतियाबिंद अंधापन का प्रमुख कारण है। इनमें से लगभग 93% अंधेपन के मामले और 96.2% दृश्य हानि के मामले हैं
  • भारत में अंधेपन का प्रचलन 1.99% है। बिजनौर, उत्तर प्रदेश में सबसे अधिक आबादी अंधेपन से पीड़ित है। जिले के लगभग 3.67% लोग अंधे हैं और 21.82% दृश्य हानि से पीड़ित हैं।
  • साक्षरता की तुलना में निरक्षरों के बीच अंधापन अधिक स्पष्ट है। लगभग 3.23% निरक्षर अंधे हैं और 0.43% साहित्य अंधे हैं
  • शहरी की तुलना में ग्रामीण आबादी (2.14%) में अंधापन अधिक प्रचलित है (1.8%)

रिपोर्ट के अनुसार अंधेपन के कारण

  • Aphakia &#8211 आंख में लेंस की अनुपस्थिति
  • अनुपचारित गैर-संक्रामक कॉर्नियल अस्पष्टता-कॉर्निया की स्कारिंग
  • नेत्रहीनता के लिए मोतियाबिंद संबंधी सर्जिकल जटिलता दूसरा सबसे बड़ा कारण था।
  • मोतियाबिंद सर्जरी के परिणाम हर जगह अच्छे नहीं हैं। लगभग 40% मोतियाबिंद सरकारी सुविधाओं में किया गया था। बाकी सर्जरी निजी और गैर-लाभकारी सुविधाओं में हुईं। इनमें से केवल 57.8% ने अच्छे दृश्य परिणाम देखे।
  • मोतियाबिंद सर्जरी तक पहुंचने में लागत सबसे बड़ी बाधा थी। एक बाधा के रूप में लागत के कारण लगभग 22.1% अंधापन था।
  • लगभग 22.1% अंधापन जागरूकता की कमी के कारण हुआ।

तो दोस्तों यहा इस पृष्ठ पर नेशनल ब्लाइंडनेस एंड विज़ुअल इम्पेयरमेंट सर्वे 2019 के बारे में बताया गया है अगर ये आपको पसंद आया हो तो इस पोस्ट को अपने friends के साथ social media में share जरूर करे। ताकि वे इस बारे में जान सके। और नवीनतम अपडेट के लिए हमारे साथ बने रहे।

नेशनल ब्लाइंडनेस एंड विज़ुअल इम्पेयरमेंट सर्वे 2019 Parinaam Dekho.

No comments:

Post a Comment