Tuesday, October 1, 2019

B’Day Special : छत से टपकता था पानी, घंटों करते थे बारिश बंद होने का इंतजार

अपने शांत और विनम्र स्वभाव के लिए पहचाने जाने वाले राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का आज जन्मदिन है। प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार(1 अक्टूबर) को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को उनके जन्मदिन पर बधाई दी और उनके अच्छे स्वास्थ्य तथा दीर्घायु होने की कामना की।


राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद का जन्म 1 अक्टूबर 1945 को उत्तरप्रदेश के कानपुर जिले की तहसील डेरापुर के एक छोटे से गांव परौंख में हुआ था। उनके जन्मदिन पर NEWS1 इंडिया उन्हें बधाई देता है और उनकी दीर्घायु की कामना करता है।

रामनाथ

ज्यादातर लोग उनकी विनम्रता और शिष्टता के कायल हैं। रामनाथ कोविंद राष्ट्रपति बनने से पहले बिहार के राज्यपाल रह चुके हैं। शुरुआती दिनों में वह पेशे से वकील रहे। साल 1994 और 2000 में कोविंद उत्तरप्रदेश से राज्यसभा सदस्य चुने गए और 12 साल तक सांसद रहे।

रामनाथ

आज सभी रामनाथ कोविंद को देश के राष्ट्रपति के तौर पर जानते हैं लेकिन कोई ये नहीं जनता कि यहां तक का सफर यूं हीं तय नहीं हो गया। यहां तक पहुंचने के लिए रामनाथ कोविंद ने न जाने कितनी मेहनत की है। कोविंद एक सामान्य से परिवार में पैदा हुए। उनका बचपन बेहद गरीबी में बीता। इसका जिक्र उन्होंने राष्ट्रपति पद की शपथ लेते हुए भी किया था। उन्होंने उस वक्त बताया था कि ‘बचपन में फूस की छत से पानी टपकता था। हम भाई-बहन दीवार के सहारे खड़े होकर बारिश बंद होने का इंतजार करते थे। आज भी जब बारिश हो रही है तो न जाने हमारे देश में ऐसे कितने ही रामनाथ कोविंद होंगे जो बारिश में भीग रहे होंगे, खेती कर रहे होंगे और शाम को रोटी मिल जाए इसके लिए मेहनत में लगे होंगे।’ उनकी बातों से साफ पता चलता है कि कितनी तकलीफों के बाद वह यहां तक पहुंचे हैं। अब वह देश के राष्ट्रपति हैं।

रामनाथ

राष्ट्रपति कोविंद का बचपन बेशक गरीबी में बीता हो लेकिन आज वह जिस मुकाम पर हैं वह उनकी मेहनत से ही संभव हो पाया है।

    बॉलीवुड के किंग खान की बेटी Suhana Khan सोशल मीडिया में सुर्ख़ियों में बनी रहती हैं कभी अपने ड्रेसिंग सेंस तो कभी अपने स्टाइल के वजह से। Suhana Khan की…

    No comments:

    Post a Comment