Friday, October 11, 2019

आदिवासियों को बदहाली से उबारने वाले पद्मश्री अशोक भगत को मिलेगा सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार

पद्मश्री अशोक भगत ने आज़मगढ़ जिले के किशुनदासपुर निवासी और झारखंड के आदिवासियों को बदहाली से उबारने के लिए अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया जिसके लिए उन्हें एक और बड़ी उपलब्धि मिलने वाली है।

अशोक भगत को झारखंड के गुमला जिले के विशुनपुर में विकास भारती संस्था से जुड़े कार्यों के लिए केंद्र सरकार ने एक और पुरस्कार देने की घोषणा की है। 18 अक्टूबर को नई दिल्ली में उप राष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू पद्मश्री अशोक भगत को एक लाख रुपये नकद व प्रतीक चिह्न देकर सम्मानित करेंगे।

अशोक

अशोक भगत के चचेरे भाई व बीजेपी नेता सुनील राय ने बताया कि लोकसेवा के क्षेत्र में विकास भारती को मिलने वाला यह सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार विकास भारती बिशुनपुर गुमला द्वारा चलाए जा रहे विकास कार्यों, समाज के सशक्तीकरण और सुनहरे भविष्य की दिशा में सर्वश्रेष्ठ पहल के लिए दिया जाएगा।

अशोक भगत ने 1983 में अपना नाम बदल कर अशोक राय से अशोक भगत रख लिया, जो आज बाबा के रूप में प्रसिद्ध हो चुके हैं। उन्होंने लगभग 33 वर्ष पहले प्रण लिया था कि जब तक आदिवासियों के तन पर कपड़ा नहीं होगा, जब तक उन्हें शिक्षा, स्वास्थ्य और रोजगार उपलब्ध नहीं होगा, जब तक वनवासी समाज की मुख्यधारा से नहीं जुड़ जाएंगे, वे वस्त्र नहीं पहनेंगे। सिर्फ धोती और गमछा धारण करेंगे।

एग्जिक्यूटिव एडिटर अवनीश विद्यार्थी(NEWS1 इंडिया)

    बॉलीवुड अभिनेता आयुष्मान खुराना की फिल्म ‘Bala’ का ट्रेलर रिलीज हो गया है। फिल्म के ट्रेलर में एक बार फिर आयुष्मान खुराना अपनी एक्टिंग का लोहा मनवाने की कोशिश करते…

    No comments:

    Post a Comment