Friday, October 18, 2019

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर पर फ्रॉड का केस, पड़ोसी महिला के फ्लैट के बनवाए फर्जी कागज !

टीम इंडिया के पूर्व ऑलराउंडर मनोज प्रभाकर गलत वजहों से सुर्खियों में हैं. दरअसल ये कहना बेहतर होगा कि वो बड़ी मुश्किल में हैं. मनोज, उनकी पत्नी फरहीन, बेटे, सहयोगी संजीव गोयल और 2 अज्ञात लोगों के खिलाफ दिल्ली के मालवीय नगर थाने में केस दर्ज किया गया है. इन सभी के खिलाफ ठगी, जालसाज़ी और आपराधिक साजिश की धाराओं में एक बुजुर्ग महिला ने मामला दर्ज कराया गया है.

मनोज प्रभाकर सहित अन्य आरोपियों पर लंदन में रहने वाली एक बुज़ुर्ग महिला के फ्लैट पर कब्जा करने और धमकी देने का आरोप है. पीड़ित महिला का नाम संध्या शर्मा पंडित है. दरअसल मालवीय नगर के सर्वप्रिया विहार के एक अपार्टमेंट में दूसरी मंजिल में महिला संध्या शर्मा पंडित का घर है. उसी अपार्टमेंट के पहले फ्लोर पर मनोज प्रभाकर रहते हैं.

प्रभाकर पर आरोप है कि महिला के फ्लैट के फर्जी कागजात बनवाकर उसका ताला तोड़ा और उसमें अपने एक जानकार को रख दिया. महिला के मुताबिक इस साल सितंबर में जब वह लंदन से आई तो उसे घर के अंदर नहीं घुसने दिया. उसके मकान में रह रहे शख्स ने बताया कि वह मनोज प्रभाकर का किरायेदार है. महिला ने जब काफी कोशिश के बाद मनोज प्रभाकर और उनकी पत्नी से संपर्क किया तो उन्होंने बताया कि अब यह प्रॉपर्टी उनकी है.

पीड़ित महिला के मुताबिक जब उसने पुलिस को बुलाया तो उसे जान से मारने की धमकी दी गई और डेढ़ करोड़ रुपये मांगे गए. उसके घर में रखा महंगा सामान भी चोरी कर लिया गया. फ्लैट के फ़र्ज़ी दस्तावेज बनाकर उस पर कब्ज़ा कर लिया गया. महिला ने इस मामले में जब पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक को शिकायत की तो दिल्ली के हौजखास थाने में मनोज प्रभाकर,उनके परिवार और सहयोगी संजीव गोयल के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया

 

No comments:

Post a Comment